भारत पीछे क्यों है ? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत का नाम कभी विश्व पटल पर अग्रणी अग्रणी देशों में शुमार हुआ करता था हमारे पूर्वजों ने भारत की संपन्नता और समृद्धि को देखा है और इतिहास से भी ज्ञात होता है कि हमारे देश के पास अकूत संपत्ति हुआ करती ...जवाब पढ़िये

भारत का नाम कभी विश्व पटल पर अग्रणी अग्रणी देशों में शुमार हुआ करता था हमारे पूर्वजों ने भारत की संपन्नता और समृद्धि को देखा है और इतिहास से भी ज्ञात होता है कि हमारे देश के पास अकूत संपत्ति हुआ करती थी अंग्रेजों से आजादी के बाद भी देश में अंग्रेजों ने भारत को पीछे की ओर धकेला इंदिरा गांधी के सत्ता में आने पर एक उम्मीद हुई कि देश की ताकत और प्रभु तो बढ़ेगा और ऐसा हुआ भी नहीं संगठन व संस्थाओं बनी जैसे रोग न्यूक्लियर टेस्ट भी हुआ लेकिन उसके बाद कांग्रेस के शासनकाल में देख पीछे की ओर चलता ही गया लेकिन वर्तमान सरकार देश को पूर्ण बहुमत के साथ मिली है और यही वजह है कि यह सरकार खास कार्यों को करके देश का प्रभुत्व बढ़ा रही है उदाहरण आपके सामने हैं भारत की विदेश नीति जितनी आती है उतनी पहले कभी नहीं रही देश के अंदर भी जितनी भी योजनाएं क्रियांवित हुई है उन से देश का विकास तो होगा ही भारत का प्रभुत्व भी बढ़ रहा है और भी बढ़ेगा और निरंतर बढ़ता ही रहेगा क्योंकि देश कोई किसी को शक्तिशाली सरकार पूर्ण बहुमत के साथ मिली है विपक्षी सरकार विपक्ष की वर्तमान सरकार का विरोध कर रहे हैं और यह वर्तमान सरकार के पक्ष में ही जाता है कि जरूर सरकार कुछ अच्छे और सही कदम उठा रही है इसीलिए उनका विरोध भी हो रहा है लेकिन अगर देख सामने को आर्थिक विकास कर रहा है तो भी विपक्षी कुछ भी कहे ना जनता को सोचना चाहिए ना ही सरकार को सुनना चाहिए यह सरकार आई है भारत के विकास के मजबूत इरादे के साथ और अपनी नीतियों और कार्यों से इसका परिचय भी दे रही है चाहे वह अपनी संस्कृति पुनः स्थापित करने की बात हो विदेशों से इंग्लिश में लाने की बातों चीजों का स्वदेशीकरण करना हो या मन से अपने देशवासियों को लाना हो गया नेपाल भूकंप देश का प्रभुत्व जिस तरह से पूरी दुनिया के सामने आ रहा है उसे साफ जाहिर है कि अब हमारा देश पीछे नहीं हटे गा उसने आगे बढ़ना शुरू कर दिया है और निरंतर बढ़ता ही रहेगा 1 दिन फिर से विश्व गुरु कहलायेगाBharat Ka Naam Kabhi Vishwa Patal Par Agranee Agranee Deshon Mein Shumaar Hua Karta Tha Hamare Purwaajon Ne Bharat Ki Aur Samridhi Ko Dekha Hai Aur Itihas Se Bhi Gyaat Hota Hai Ki Hamare Desh Ke Paas Akut Sampatti Hua Karti Thi Angrejo Se Azadi Ke Baad Bhi Desh Mein Angrejo Ne Bharat Ko Piche Ki Oar Dhakela Indira Gandhi Ke Satta Mein Aane Par Ek Ummid Hui Ki Desh Ki Takat Aur Prabhu To Badhega Aur Aisa Hua Bhi Nahi Sangathan V Sasthaon Bani Jaise Rog Nuclear Test Bhi Hua Lekin Uske Baad Congress Ke Shasankal Mein Dekh Piche Ki Oar Chalta Hi Gaya Lekin Vartaman Sarkar Desh Ko Poorn Bahumat Ke Saath Mili Hai Aur Yahi Wajah Hai Ki Yeh Sarkar Khas Kaaryon Ko Karke Desh Ka Parbhutwa Badha Rahi Hai Udaharan Aapke Samane Hain Bharat Ki Videsh Niti Jitni Aati Hai Utani Pehle Kabhi Nahi Rahi Desh Ke Andar Bhi Jitni Bhi Yojanaye Hui Hai Un Se Desh Ka Vikash To Hoga Hi Bharat Ka Parbhutwa Bhi Badh Raha Hai Aur Bhi Badhega Aur Nirantar Badhta Hi Rahega Kyonki Desh Koi Kisi Ko Shaktishaali Sarkar Poorn Bahumat Ke Saath Mili Hai Vipakshi Sarkar Vipaksh Ki Vartaman Sarkar Ka Virodh Kar Rahe Hain Aur Yeh Vartaman Sarkar Ke Paksh Mein Hi Jata Hai Ki Jarur Sarkar Kuch Acche Aur Sahi Kadam Utha Rahi Hai Isliye Unka Virodh Bhi Ho Raha Hai Lekin Agar Dekh Samane Ko Aarthik Vikash Kar Raha Hai To Bhi Vipakshi Kuch Bhi Kahe Na Janta Ko Sochna Chahiye Na Hi Sarkar Ko Sunana Chahiye Yeh Sarkar Eye Hai Bharat Ke Vikash Ke Mazboot Ke Saath Aur Apni Nitiyon Aur Kaaryon Se Iska Parichay Bhi De Rahi Hai Chahe Wah Apni Sanskriti Punh Sthapit Karne Ki Baat Ho Videshon Se English Mein Lane Ki Baaton Chijon Ka Karna Ho Ya Man Se Apne Deshvasiyon Ko Lana Ho Gaya Nepal Bhukamp Desh Ka Parbhutwa Jis Tarah Se Puri Duniya Ke Samane Aa Raha Hai Use Saaf Jaahir Hai Ki Ab Hamara Desh Piche Nahi Hate Ga Usne Aage Badhana Shuru Kar Diya Hai Aur Nirantar Badhta Hi Rahega 1 Din Phir Se Vishwa Guru Kehlayega
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत पिछले का बहुत सारा कारण ही कारण हैं पहला कारण गर्भ गिराना चालू करो कारण आपको पॉपुलेशन दूसरा कारण लिट्रेसी तीसरा कारण का स्टेज 9th का रिजर्वेशन पांचवा कारण रिलीज इसमें एक दूसरे में लड़ाई सट्टा कार ...जवाब पढ़िये

भारत पिछले का बहुत सारा कारण ही कारण हैं पहला कारण गर्भ गिराना चालू करो कारण आपको पॉपुलेशन दूसरा कारण लिट्रेसी तीसरा कारण का स्टेज 9th का रिजर्वेशन पांचवा कारण रिलीज इसमें एक दूसरे में लड़ाई सट्टा कारण करप्शन दो और सातवां कारण हमारे नियम अरब कंट्री जैसे कि पाकिस्तान और चाइना की सब्जी कारण ही इतने कारण के कारण जो भारत चाहे वह पीछे रह गया हैBharat Pichhle Ka Bahut Saara Kaaran Hi Kaaran Hain Pehla Kaaran Garbh Girana Chalu Karo Kaaran Aapko Population Doosra Kaaran Teesra Kaaran Ka Stage 9th Ka Reservation Panchava Kaaran Release Isme Ek Dusre Mein Ladai Satta Kaaran Corruption Do Aur Satvaan Kaaran Hamare Niyam Arab Country Jaise Ki Pakistan Aur China Ki Sabzi Kaaran Hi Itne Kaaran Ke Kaaran Jo Bharat Chahe Wah Piche Rah Gaya Hai
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Bharat Piche Kyun Hai ?, Why Is India Behind?