भड़काऊ बयान देने वाले नेताओ के लिए कोई कानून है कि नही? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर कोई भी नहीं था और कोई भी भड़काऊ बयान या फिर किसी भी तरह से और थोड़ा और अपनी रेलियां पर स्पीच के टाइम थोड़े ज्यादा टाइम पर उनका हो चढ़ जाता है या फिर गुस्सा हो जाते हैं किसी बात से वह ऐसा बयान दे द...जवाब पढ़िये
अगर कोई भी नहीं था और कोई भी भड़काऊ बयान या फिर किसी भी तरह से और थोड़ा और अपनी रेलियां पर स्पीच के टाइम थोड़े ज्यादा टाइम पर उनका हो चढ़ जाता है या फिर गुस्सा हो जाते हैं किसी बात से वह ऐसा बयान दे देते हैं जो कि बहुत ही डेरिंग और बहुत ही गलत लगता है लोगों को यानी के भड़काऊ लगता है तो ऐसे नेताओं के खिलाफ को एक कानून तो है सच नहीं बनाया गया है और कोई भी नेता रैली के टाइम पर स्पीच के टाइम पर कोई भी बयान दे सकता है उनके खिलाफ मैसेज कोई रोक-टोक का कानून नहीं है परंतु अगर उनके बयान को कुछ लोगों को अच्छा नहीं लग रहा है तो आप उनकी जरूर कर सकते हैं और किसी भी चीज से रिलेटेड बनाने बयान दिया है और चाहे तो आप मानहानि कभी केस कर सकते हैं अगर उन्होंने किसी पर्सन के खिलाफ एनी किसी इंसान के खिलाफ भड़काऊ बयान दिया है कभी किसी चीज के खिलाफ भड़काऊ बयान दिया तो आप उस बयान को एक एविडेंस के थ्रू तरफ दिखाकर कोर्ट में उनके खिलाफ केस कर सकते हैं लेकिन ऐसा कोई कानून नहीं है जो उनको उस बयान को आने से रोके परंतु अगर कोई ऐसा नेट नहीं था करते हैं तो आपको आपके घर सेंटीमेंट सूची से हर्ट हो रहा है आपको वह गलत लग रहा है तो आप उनके खिलाफ केस कर सकते हैं और नेता ने अगर बयान दिया है तू उनको जरूर सजा भी होगी उनके ऊपर कार्यवाही भी होगी तो ऐसा कोई कानून तो कॉमेंट नहीं बना सकते क्योंकि इलेक्शन के टाइम पर है और नेता कई तरह के बातें बोलते हैं कई तरह के चैंपियन से अब तरीकों से अपने लोगों को अपनी पार्टी की तरफ अट्रैक्ट करने की कोशिश करता हूं उसे वोट हासिल करने की कोशिश करते हैं तो भड़काऊ बयान उस समय अगर वह देते हैं तो कानूनी तरह से उन पर कोई कार्यवाही नहीं करता है ज्यादा था परंतु अगर आपके सेंटीमेंटल रो रहे हैं ठीक उसी प्रसन्न या फिर किस चीज के लिए डायरेक्ट ही बात कही गई है तो आप जरूर केस कर सकते हैं और वह आपका खुद का केस होगा ना कि किसी तरह से कानूनी कार्यवाही होगीAgar Koi Bhi Nahi Tha Aur Koi Bhi Bhadkau Bayan Ya Phir Kisi Bhi Tarah Se Aur Thoda Aur Apni Reliyan Par Speech Ke Time Thode Jyada Time Par Unka Ho Chadh Jata Hai Ya Phir Gussa Ho Jaate Hain Kisi Baat Se Wah Aisa Bayan De Dete Hain Jo Ki Bahut Hi Daring Aur Bahut Hi Galat Lagta Hai Logon Ko Yani Ke Bhadkau Lagta Hai To Aise Netaon Ke Khilaf Ko Ek Kanoon To Hai Sach Nahi Banaya Gaya Hai Aur Koi Bhi Neta Rally Ke Time Par Speech Ke Time Par Koi Bhi Bayan De Sakta Hai Unke Khilaf Massage Koi Rok Tok Ka Kanoon Nahi Hai Parantu Agar Unke Bayan Ko Kuch Logon Ko Accha Nahi Lag Raha Hai To Aap Unki Jarur Kar Sakte Hain Aur Kisi Bhi Cheez Se Related Banane Bayan Diya Hai Aur Chahe To Aap Manhani Kabhi Case Kar Sakte Hain Agar Unhone Kisi Person Ke Khilaf Any Kisi Insaan Ke Khilaf Bhadkau Bayan Diya Hai Kabhi Kisi Cheez Ke Khilaf Bhadkau Bayan Diya To Aap Us Bayan Ko Ek Evidens Ke Through Taraf Dikhakar Court Mein Unke Khilaf Case Kar Sakte Hain Lekin Aisa Koi Kanoon Nahi Hai Jo Unko Us Bayan Ko Aane Se Roke Parantu Agar Koi Aisa Net Nahi Tha Karte Hain To Aapko Aapke Ghar Sentiment Suchi Se Heart Ho Raha Hai Aapko Wah Galat Lag Raha Hai To Aap Unke Khilaf Case Kar Sakte Hain Aur Neta Ne Agar Bayan Diya Hai Tu Unko Jarur Saja Bhi Hogi Unke Upar Karyavahi Bhi Hogi To Aisa Koi Kanoon To Cament Nahi Bana Sakte Kyonki Election Ke Time Par Hai Aur Neta Kai Tarah Ke Batein Bolte Hain Kai Tarah Ke Champion Se Ab Trikon Se Apne Logon Ko Apni Party Ki Taraf Attract Karne Ki Koshish Karta Hoon Use Vote Hasil Karne Ki Koshish Karte Hain To Bhadkau Bayan Us Samay Agar Wah Dete Hain To Kanooni Tarah Se Un Par Koi Karyavahi Nahi Karta Hai Jyada Tha Parantu Agar Aapke Sentimental Ro Rahe Hain Theek Ussi Prasann Ya Phir Kis Cheez Ke Liye Direct Hi Baat Kahi Gayi Hai To Aap Jarur Case Kar Sakte Hain Aur Wah Aapka Khud Ka Case Hoga Na Ki Kisi Tarah Se Kanooni Karyavahi Hogi
Likes  9  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जैसे की हमारे देश में सभी व्यक्ति को और सारे नेताओं को अपनी बात बोलने और रखने का अधिकार है और हमें क्वालिटी की बात करते हैं जोकि आर्टिकल अटल से 15 तक मिली वूमेन के लिए भी अकाउंट किया जाता है तो ऐसी कं...जवाब पढ़िये
जैसे की हमारे देश में सभी व्यक्ति को और सारे नेताओं को अपनी बात बोलने और रखने का अधिकार है और हमें क्वालिटी की बात करते हैं जोकि आर्टिकल अटल से 15 तक मिली वूमेन के लिए भी अकाउंट किया जाता है तो ऐसी कंडीशन में लोग जरूर ऐसे बोलते हैं और खासकर के नेता कि कि वह तो मंत्री हैं वह तो बोलेंगे तो वह भड़काऊ तरीके से भी बयान देते हैं ऐसे लोगों को धमकी देते हैं तो कानून जरूर है कानून से चीजों के लिए है लेकिन अब वह कानून लगता है या नहीं है यह तो उत्पन्न करता है लेकिन कुछ बहुत सही जगह पर कानून भी काम नहीं आता है क्योंकि यह लोग कानून चल रही नहीं देते हैं तो कानून जरूर है लेकिन वह MP में नहीं हो रहा है इसलिए लोगों को दिख नहीं रहा है और लोगों को परेशानियां झेलनी पड़ रही है और अब लोगों को समझ में आए रहेगी कानून होना चाहिए या नहीं होना चाहिए तो दुकान है उसे आप इंप्लीमेंट करें तो जरूर लोगों को दिखेगा और इसका परिणाम जो भी होगा अच्छा ही होगा कुछ बुरा नहीं हूंJaise Ki Hamare Desh Mein Sabhi Vyakti Ko Aur Sare Netaon Ko Apni Baat Bolne Aur Rakhne Ka Adhikaar Hai Aur Hume Quality Ki Baat Karte Hain Joki Article Atal Se 15 Tak Mili Women Ke Liye Bhi Account Kiya Jata Hai To Aisi Condition Mein Log Jarur Aise Bolte Hain Aur Khaskar Ke Neta Ki Ki Wah To Mantri Hain Wah To Bolenge To Wah Bhadkau Tarike Se Bhi Bayan Dete Hain Aise Logon Ko Dhamki Dete Hain To Kanoon Jarur Hai Kanoon Se Chijon Ke Liye Hai Lekin Ab Wah Kanoon Lagta Hai Ya Nahi Hai Yeh To Utpann Karta Hai Lekin Kuch Bahut Sahi Jagah Par Kanoon Bhi Kaam Nahi Aata Hai Kyonki Yeh Log Kanoon Chal Rahi Nahi Dete Hain To Kanoon Jarur Hai Lekin Wah MP Mein Nahi Ho Raha Hai Isliye Logon Ko Dikh Nahi Raha Hai Aur Logon Ko Pareshaniyan Jhelani Padh Rahi Hai Aur Ab Logon Ko Samajh Mein Aaye Rahegi Kanoon Hona Chahiye Ya Nahi Hona Chahiye To Dukan Hai Use Aap Implement Karen To Jarur Logon Ko Dikhega Aur Iska Parinam Jo Bhi Hoga Accha Hi Hoga Kuch Bura Nahi Hoon
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी बिल्कुल आजकल के जो राजनेता हैं हैं कभी-कभी अपने आप भाषण के दरमियान कुछ ऐसी बातें बोल देती है जिससे क्या होता की आम जनता को बहुत ही ठेस पहुंचती है तो बिल्कुल इसके लिए भी कानून होनी चाहिए क्योंकि दिख...जवाब पढ़िये
जी बिल्कुल आजकल के जो राजनेता हैं हैं कभी-कभी अपने आप भाषण के दरमियान कुछ ऐसी बातें बोल देती है जिससे क्या होता की आम जनता को बहुत ही ठेस पहुंचती है तो बिल्कुल इसके लिए भी कानून होनी चाहिए क्योंकि दिखेगा उसके लिए कानून नहीं है तो हमारे राजनेता है कभी भी इस बात को ठीक तरीके से फॉलो नहीं कर पाएंगे और वह अपने बयान ऐसे आज जो बयान है जो हमेशा मतलब लोगों को ठेस पहुंचाती वह देते रहेंगेJi Bilkul Aajkal Ke Jo Rajneta Hain Hain Kabhi Kabhi Apne Aap Bhashan Ke Darmiyaan Kuch Aisi Batein Bol Deti Hai Jisse Kya Hota Ki Aam Janta Ko Bahut Hi Thes Pahunchati Hai To Bilkul Iske Liye Bhi Kanoon Honi Chahiye Kyonki Dikhega Uske Liye Kanoon Nahi Hai To Hamare Rajneta Hai Kabhi Bhi Is Baat Ko Theek Tarike Se Follow Nahi Kar Paenge Aur Wah Apne Bayan Aise Aaj Jo Bayan Hai Jo Hamesha Matlab Logon Ko Thes Pahunchati Wah Dete Rahenge
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Bhadkau Bayan Dene Wale Netao Ke Liye Koi Kanoon Hai Ki Nahi, Is There Any Law For Leaders Who Have Provocative Statements?