उत्तर प्रदेश में एनकाउंटर पे इतना बवाल क्यों हो रहा है!डकैत का एनकाउंटर तो होना चाहिए? ...

Likes  0  Dislikes

3 Answers


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
आपका कहना बिल्कुल सही है कि जो भी आपराधिक तत्व हैं हमारे समाज में चाहे वह चोर हो मर्डर हो या फिर डकैत हो उनका एनकाउंटर अगर हो रहा है तो इसमें कोई गलत बात नहीं है क्योंकि वह लोग जो की आपराधिक छवि वाले हैं वह इन चीजों को नहीं समझते हैं कि जो भी हम काम कर रहे हैं उसे दूसरों को कितना नुकसान हो रहा है तो इसीलिए हमें न्याय व्यवस्था में पुलिस की भर्ती की जाती है कि पुलिस लोगों को इन अपराधिक तत्वों से बचाएं और इसी क्रम में अगर किसी डकैत का एनकाउंटर हो रहा है तो इस पर बवाल करने की कोई भी आवश्यकता नहीं है लेकिन यह जो भी डकैतों के एनकाउंटर पर बवाल हो रहा है वह सीधे तौर पर राजनीति से प्रेरित मालूम पड़ता है और राजनेता अपने फायदे के लिए वोट बैंक की राजनीति करते हुए इन इन काउंटरों को गलत साबित करने की कोशिश करते हैं और इसमें राजनीति घुस आते हैं और इसी वजह से यह जो इनकाउंटर हो रहे हैं डकैतों के राजनीति के प्रभाव के वजह से इन पर इतना ज्यादा बवाल किया जा रहा है तो हमारे राजनेताओं को यह सोचने की जरूरत है और आम नागरिकों को भी अपने दिमाग से सोचने की जरूरत है कि यह जो एनकाउंटर किए जा रहे हैं यह उनके हित के लिए ही है क्योंकि यह जो डकैत है वह कभी भी किसी पर रहम नहीं करने वाले हैं और इन सारी चीजों पर बवाल करना कहीं से भी उचित नहीं हैAapka Kehna Bilkul Sahi Hai Ki Jo Bhi Apradhik Tatva Hain Hamare Samaaj Mein Chahe Wah Chor Ho Murder Ho Ya Phir Dacoit Ho Unka Encounter Agar Ho Raha Hai To Isme Koi Galat Baat Nahi Hai Kyonki Wah Log Jo Ki Apradhik Chawi Wale Hain Wah In Chijon Ko Nahi Samajhte Hain Ki Jo Bhi Hum Kaam Kar Rahe Hain Use Dusron Ko Kitna Nuksan Ho Raha Hai To Isliye Hume Nyay Vyavastha Mein Police Ki Bharti Ki Jati Hai Ki Police Logon Ko In Apradhik Tatwon Se Bachaen Aur Isi Kram Mein Agar Kisi Dacoit Ka Encounter Ho Raha Hai To Is Par Bawaal Karne Ki Koi Bhi Avashyakta Nahi Hai Lekin Yeh Jo Bhi Dakaeton Ke Encounter Par Bawaal Ho Raha Hai Wah Seedhe Taur Par Rajneeti Se Prerit Maloom Padata Hai Aur Rajneta Apne Fayde Ke Liye Vote Bank Ki Rajneeti Karte Hue In In Kauntaron Ko Galat Saabit Karne Ki Koshish Karte Hain Aur Isme Rajneeti Ghus Aate Hain Aur Isi Wajah Se Yeh Jo Encounter Ho Rahe Hain Dakaeton Ke Rajneeti Ke Prabhav Ke Wajah Se In Par Itna Jyada Bawaal Kiya Ja Raha Hai To Hamare Rajnetao Ko Yeh Sochne Ki Zaroorat Hai Aur Aam Naagrikon Ko Bhi Apne Dimag Se Sochne Ki Zaroorat Hai Ki Yeh Jo Encounter Kiye Ja Rahe Hain Yeh Unke Hit Ke Liye Hi Hai Kyonki Yeh Jo Dacoit Hai Wah Kabhi Bhi Kisi Par Raham Nahi Karne Wale Hain Aur In Saree Chijon Par Bawaal Karna Kahin Se Bhi Uchit Nahi Hai
Likes  18  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

अपना सवाल पूछिए


Englist → हिंदी

Additional options appears here!


0/180
mic

अपना सवाल बोलकर पूछें


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
उत्तर प्रदेश सरकार कब बनी थी तो उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी ने अपने पहले स्पीच में इस बात को कहा था जो भी गुंडे हैं बदमाश हैं या तो यूपी को छोड़ दें या फिर सुधर जाएं नहीं तो हम सुधार देंगे तो यह उनके यह स्टेटमेंट जो क्लियर ही दिखाता है कि सरकार लॉ एंड ऑर्डर के मुद्दे पर बिल्कुल भी सरेंडर नहीं करेगी इसी का यह कारण है और यही परिणाम होगा इसका के उत्तर प्रदेश के अंदर पिछले 6 महीनों में इतने एनकाउंटर हुए जितने अखिलेश सरकार की पूरे 5 साल में नहीं हुए काला के 12 क्वेश्चन काउंटर पर क्वेश्चन मार्क जरूर हुआ है और उस समय सरकार ने कार्यवाही भी की है जो मुद्दा नोएडा का आया था लेकिन अपोजीशन का तो काम मुझे लगता है यही है कि कोई भी अच्छा कार्य रावत सरकार का उसको हमेशा बुरा बताना मुझे लगता है कि इसकी बहुत जरूरत ही इनकाउंटर वह नहीं होता कि कि उत्तर प्रदेश के अंदर जो माहौल डर का माहौल वह खत्म हो लोग खुले में जा सके रात में आराम से निकल सके तो मुझे लगता है इसी वजह उत्तर प्रदेश सरकार ने इस काम को अंजाम दिया और मुझे लगता है कि बहुत सही कदम है होना भी चाहिए क्योंकि यह वह लोग हैं जो रेप करते हैं हाइवे पर लूट करते हैं और लोगों को मारते हैं जब वह खुद मर रहा है तो मुझे लगता है कि अगर अपोजीशन उनके फेवर में आ रही है तो कहीं ना कहीं अपोजीशन की क्रेडिबिलिटी पर भी क्वेश्चन मार्क होता है हालांकि वहां के CM ने के लिए कह दिया है कि एनकाउंटर बंद नहीं होंगे अपोजीशन कितना भी चिल्लाएUttar Pradesh Sarkar Kab Bani Thi To Uttar Pradesh Ke Mukhyamantri Shri Yogi Adityanath Ji Ne Apne Pehle Speech Mein Is Baat Ko Kaha Tha Jo Bhi Gunde Hain Badamash Hain Ya To Up Ko Chod Dein Ya Phir Sudhar Jayen Nahi To Hum Sudhaar Denge To Yeh Unke Yeh Statement Jo Clear Hi Dikhaata Hai Ki Sarkar Law End Order Ke Mudde Par Bilkul Bhi Surrender Nahi Karegi Isi Ka Yeh Kaaran Hai Aur Yahi Parinam Hoga Iska Ke Uttar Pradesh Ke Andar Pichle 6 Mahinon Mein Itne Encounter Hue Jitne Akhilesh Sarkar Ki Poore 5 Saal Mein Nahi Hue Kala Ke 12 Question Counter Par Question Mark Jarur Hua Hai Aur Us Samay Sarkar Ne Karyavahi Bhi Ki Hai Jo Mudda Noida Ka Aaya Tha Lekin Apojishan Ka To Kaam Mujhe Lagta Hai Yahi Hai Ki Koi Bhi Accha Karya Rawat Sarkar Ka Usko Hamesha Bura Batana Mujhe Lagta Hai Ki Iski Bahut Zaroorat Hi Encounter Wah Nahi Hota Ki Ki Uttar Pradesh Ke Andar Jo Maahaul Dar Ka Maahaul Wah Khatam Ho Log Khule Mein Ja Sake Raat Mein Aaram Se Nikal Sake To Mujhe Lagta Hai Isi Wajah Uttar Pradesh Sarkar Ne Is Kaam Ko Anjaam Diya Aur Mujhe Lagta Hai Ki Bahut Sahi Kadam Hai Hona Bhi Chahiye Kyonki Yeh Wah Log Hain Jo Rape Karte Hain Highway Par Loot Karte Hain Aur Logon Ko Marte Hain Jab Wah Khud Mar Raha Hai To Mujhe Lagta Hai Ki Agar Apojishan Unke Favor Mein Aa Rahi Hai To Kahin Na Kahin Apojishan Ki Credibility Par Bhi Question Mark Hota Hai Halanki Wahan Ke CM Ne Ke Liye Keh Diya Hai Ki Encounter Band Nahi Honge Apojishan Kitna Bhi Chillaae
Likes  5  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
ठीक है आपने बिल्कुल सही बात की है डकैतों का एनकाउंटर होना चाहिए लेकिन आपने उत्तर प्रदेश के जो एनकाउंटर का जिक्र किया है उत्तर प्रदेश में जो एनकाउंटर पर इतना शोर मच रहा है उसके जो असली में जो कारण है वह यह है कि वह फर्जी एनकाउंटर को फर्जी एनकाउंटर का मतलब हमें समझना पड़ेगा देखिए एनकाउंटर जो होता है यानी कि कोई इनामी बदमाश इनामी डकैत गुंडा है जिस परिणाम है किसको पकड़ कर लाश को मार गिराना है यह कई क्राइम में लिप्त है वह तो बाहर आजादी से घूमता है बहुत चैन की सांस लेता है लेकिन हम किसी दूसरे शख्स को मार गिराते हैं और यह कहते हैं कि हमने उसी इनामी बदमाश को मारा है यानी कि जिस को मार रहा था वह तो आराम से खुली सांस ले रहा है लेकिन हमने किसी दूसरे को मार दिया है और बाहर हम यह कह रहे हैं कि हमने उसी इंसान को मारा था से फर्जी एनकाउंटर बोला जाता है इससे होता क्या है जो भी वह तो पुलिस में है जिम्मेदारी ड्यूटी पर उसको उस एनकाउंटर के नाम पर प्रमोशन मिल जाता है पैसा मिल जाता है नाम मिल जाता तारीफ मिल जाती है सरकार को बधाई मिल जाती है उसे कैसे सॉल्व किया तो कुल मिलाकर फर्जी एनकाउंटर जो हो रहा है कि यानि किसी दूसरे इंसान को मार कर आपने अपनी अभी तक वाली कि आपने इन काउंटर कर दिया इनामी बदमाश को ढेर कर दिया क्राइम काम हो गया तो उस पर विरोध हो रहा है उत्तर प्रदेश में अन्यथा आप डकैत की बात करें तो उसका एनकाउंटर तो होना ही चाहिए लेकिन काउंटर के अलावा कीमत की बात करें तो उसको पकड़ कर सकते हैं अगर चोरी चोरी कहां की कहां है माल कौन-कौन शामिल हुई और अन्य क्राइम कर रहा है तो उसके बारे में आप जानकारी जुटा सकते हैं बजाए के एनकाउंटर कॉलिंग काउंटर ही कर रहे हैं तो सही सेक्स करते रहे तो ज्यादा बेनेफिशियल है अन्यथा दूसरे का करेंगे तो छोड़ दूंगाTheek Hai Aapne Bilkul Sahi Baat Ki Hai Dakaeton Ka Encounter Hona Chahiye Lekin Aapne Uttar Pradesh Ke Jo Encounter Ka Jikarr Kiya Hai Uttar Pradesh Mein Jo Encounter Par Itna Shor Mach Raha Hai Uske Jo Asli Mein Jo Kaaran Hai Wah Yeh Hai Ki Wah Farjee Encounter Ko Farjee Encounter Ka Matlab Hume Samajhna Padega Dekhie Encounter Jo Hota Hai Yani Ki Koi Inami Badamash Inami Dacoit Gunda Hai Jis Parinam Hai Kisko Pakad Kar Laash Ko Maar Giraana Hai Yeh Kai Crime Mein Lipt Hai Wah To Bahar Azadi Se Ghoomta Hai Bahut Chain Ki Saans Leta Hai Lekin Hum Kisi Dusre Sakhs Ko Maar Giraate Hain Aur Yeh Kehte Hain Ki Humne Ussi Inami Badamash Ko Mara Hai Yani Ki Jis Ko Maar Raha Tha Wah To Aaram Se Khuli Saans Le Raha Hai Lekin Humne Kisi Dusre Ko Maar Diya Hai Aur Bahar Hum Yeh Keh Rahe Hain Ki Humne Ussi Insaan Ko Mara Tha Se Farjee Encounter Bola Jata Hai Isse Hota Kya Hai Jo Bhi Wah To Police Mein Hai Jimmedari Duty Par Usko Us Encounter Ke Naam Par Promotion Mil Jata Hai Paisa Mil Jata Hai Naam Mil Jata Tarif Mil Jati Hai Sarkar Ko Badhai Mil Jati Hai Use Kaise Solve Kiya To Kul Milakar Farjee Encounter Jo Ho Raha Hai Ki Yani Kisi Dusre Insaan Ko Maar Kar Aapne Apni Abhi Tak Wali Ki Aapne In Counter Kar Diya Inami Badamash Ko Dher Kar Diya Crime Kaam Ho Gaya To Us Par Virodh Ho Raha Hai Uttar Pradesh Mein Anyatha Aap Dacoit Ki Baat Karen To Uska Encounter To Hona Hi Chahiye Lekin Counter Ke Alava Kimat Ki Baat Karen To Usko Pakad Kar Sakte Hain Agar Chori Chori Kahan Ki Kahan Hai Maal Kaun Kaun Shamil Hui Aur Anya Crime Kar Raha Hai To Uske Baare Mein Aap Jankari Juta Sakte Hain Bajae Ke Encounter Calling Counter Hi Kar Rahe Hain To Sahi Sex Karte Rahe To Jyada Beneficial Hai Anyatha Dusre Ka Karenge To Chod Dunga
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Want to invite experts?




Similar Questions

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Uttar Pradesh Mein Encounter Pe Itna Bawaal Kyun Ho Raha Hai Dacoit Ka Encounter To Hona Chahiye, Why Is There So Much Noise In The Encounter In Uttar Pradesh? Should The Robber's Encounter Be There?





मन में है सवाल?