सचिवालय वे क्या करते हैं? ...

सचिवालय सचिवों के कार्यालय को कहा जाता है। इसके कई अर्थ हो सकते हैं यह भारत की राजधानी नई दिल्ली में, रायसीना की पहाङी पर स्थित है। यहाँ भारत सरकार का केन्द्रीय सचिवालय है। इसमें दो इमारतें, बिलकुल एक जैसी, पर प्रतिबिम्ब रूप में राजपथ के उत्तर व दक्षिण में स्थित हैं। इनमें प्रमुख मन्त्रालय के कार्यालय भी स्थित हैं।केद्र सरकार राज्य में प्रशासन की सुविधा के ख्याल से विभिन्न मंत्रालयों व विभागों में बंटा हुआ है अर्थात सरकार के सभी मंत्रालयों एवं विभागों को सम्मिलित रूप से केंद्रीय सचिवालय कहा जाता है। साधारणतयाः सभी विभाग मंत्रालयों के अधीन होते हैं परन्तु कुछ अपवाद भी है। मंत्रालयों के राजनितिक प्रमुख मंत्री होते हैं विभाग-विभाजन प्रणाली (पोर्टफोलियो) के आधार पर मंत्रियों को इनका राजनितिक प्रमुख बनाया जाता है जो राष्ट्रपति की ओर से आदेश जरी कर सकता है। कभी-कभी राज्य मंत्रियों को भी विभागों का प्रमुख बनाया जाता है। इन मंत्रालयों का प्रशासनिक प्रमुख सचिव होते हैं। सचिवालय भी मंत्रिपरिषद की तरह ही एक स्वतंत्र निकाय के रूप में कार्य करता है एवं सामूहिक तौर पर जिम्मेदार होता है, यानि सचिवालय का कोई भी विभाग अपने मामलों के निपटने के पहले अन्य सम्बंधित/दिलचस्पी रखने वाले विभग से राय लेता है और इस तरह से सचिवगण किसी खास मंत्री के सचिव न होकर संघ सरकार के सचिव होते हैं।
Romanized Version
सचिवालय सचिवों के कार्यालय को कहा जाता है। इसके कई अर्थ हो सकते हैं यह भारत की राजधानी नई दिल्ली में, रायसीना की पहाङी पर स्थित है। यहाँ भारत सरकार का केन्द्रीय सचिवालय है। इसमें दो इमारतें, बिलकुल एक जैसी, पर प्रतिबिम्ब रूप में राजपथ के उत्तर व दक्षिण में स्थित हैं। इनमें प्रमुख मन्त्रालय के कार्यालय भी स्थित हैं।केद्र सरकार राज्य में प्रशासन की सुविधा के ख्याल से विभिन्न मंत्रालयों व विभागों में बंटा हुआ है अर्थात सरकार के सभी मंत्रालयों एवं विभागों को सम्मिलित रूप से केंद्रीय सचिवालय कहा जाता है। साधारणतयाः सभी विभाग मंत्रालयों के अधीन होते हैं परन्तु कुछ अपवाद भी है। मंत्रालयों के राजनितिक प्रमुख मंत्री होते हैं विभाग-विभाजन प्रणाली (पोर्टफोलियो) के आधार पर मंत्रियों को इनका राजनितिक प्रमुख बनाया जाता है जो राष्ट्रपति की ओर से आदेश जरी कर सकता है। कभी-कभी राज्य मंत्रियों को भी विभागों का प्रमुख बनाया जाता है। इन मंत्रालयों का प्रशासनिक प्रमुख सचिव होते हैं। सचिवालय भी मंत्रिपरिषद की तरह ही एक स्वतंत्र निकाय के रूप में कार्य करता है एवं सामूहिक तौर पर जिम्मेदार होता है, यानि सचिवालय का कोई भी विभाग अपने मामलों के निपटने के पहले अन्य सम्बंधित/दिलचस्पी रखने वाले विभग से राय लेता है और इस तरह से सचिवगण किसी खास मंत्री के सचिव न होकर संघ सरकार के सचिव होते हैं।Sachivalay Sachivon K Karyalay Co Kaha Jaata Hai Iske Kai Earth Ho Sakte Hain Yeh Bharat Ki Rajdhani Nai Delhi Mein Raysina Ki Pahangi Per Sthita Hai Yahan Bharat Sarkar Ka Kendriya Sachivalay Hai Ismein Though Imarten Bilakul Ek Jaisi Per Pratibimb Roop Mein Rajpath K Uttar Va Dakshin Mein Sthita Hain Inamen Pramukh Mantralay K Karyalay Bhi Sthita Hain Kedra Sarkar Rajya Mein Prashasan Ki Suvidha K Khyala Se Vibhinn Mantralayon Va Vibhaago Mein Benta Hua Hai Arthat Sarkar K Sabhi Mantralayon Even Vibhaago Co Sammilit Roop Se Kendriya Sachivalay Kaha Jaata Hai Sadharanatayah Sabhi Vibhag Mantralayon K Adhin Hote Hain Parantu Kuch Apvad Bhi Hai Mantralayon K Rajnitik Pramukh Mantri Hote Hain Vibhag Vibhajan Pranali Portfolio K Aadhaar Per Mantriyon Co Inaka Rajnitik Pramukh Banaya Jaata Hai Joe Rastrapati Ki Oar Se Adesh Zari Car Sakta Hai Kabhi Kabhi Rajya Mantriyon Co Bhi Vibhaago Ka Pramukh Banaya Jaata Hai In Mantralayon Ka Prashasnik Pramukh Sachiv Hote Hain Sachivalay Bhi Mantriparishad Ki Turha Hea Ek Swatantra Nikay K Roop Mein Karya Karata Hai Even Samuhik Taur Per Jimmedar Hota Hai Yani Sachivalay Ka Koi Bhi Vibhag Apne Mamlo K Nipatane K Pehle Anya Sambandhit Dilchaspi Rakhne Wale Vibhag Se Ray Lata Hai Aur Is Turha Se Sachivagan Kisi Khas Mantri K Sachiv Na Hokra Sangh Sarkar K Sachiv Hote Hain
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches:Sachivalaya Ve Kya Karte Hain ,


vokalandroid