एक राष्ट्रपति या राष्ट्रपति जो सही है? ...

भारत के राष्ट्रपति, भारत गणराज्य के कार्यपालक अध्यक्ष होते हैं। संघ के सभी कार्यपालक कार्य उनके नाम से किये जाते हैं। अनुच्छेद 53 के अनुसार संघ की कार्यपालक शक्ति उनमें निहित हैं। वह भारतीय सशस्त्र सेनाओं का सर्वोच्च सेनानायक भी हैं। सभी प्रकार के आपातकाल लगाने व हटाने वाला, युद्ध/शांति की घोषणा करने वाला होता है। वह देश के प्रथम नागरिक हैं। भारतीय राष्ट्रपति का भारतीय नागरिक होना आवश्यक है।राष्ट्रपति के पास पर्याप्त शक्ति होती है। पर कुछ अपवादों के अलावा राष्ट्रपति के पद में निहित अधिकांश अधिकार वास्तव में प्रधानमंत्री की अध्यक्षता वाले मंत्रिपरिषद् के द्वारा उपयोग किए जाते हैं।भारत के राष्ट्रपति नई दिल्ली स्थित राष्ट्रपति भवन में रहते हैं, जिसे रायसीना हिल के नाम से भी जाना जाता है। राष्ट्रपति अधिकतम कितनी भी बार पद पर रह सकते हैं इसकी कोई सीमा तय नहीं है। भारत के राष्ट्रपति का चुनाव अनुच्छेद 55 के अनुसार आनुपातिक प्रतिनिधित्व प्रणाली के एकल संक्रमणीय मत पद्धति के द्वारा होता है। राष्ट्रपति को भारत के संसद के दोनो सदनों (लोक सभा और राज्य सभा) तथा साथ ही राज्य विधायिकाओं (विधान सभाओं) के निर्वाचित सदस्यों द्वारा पाँच वर्ष की अवधि के लिए चुना जाता है। वोट आवंटित करने के लिए एक फार्मूला इस्तेमाल किया गया है ताकि हर राज्य की जनसंख्या और उस राज्य से विधानसभा के सदस्यों द्वारा वोट डालने की संख्या के बीच एक अनुपात रहे और राज्य विधानसभाओं के सदस्यों और राष्ट्रीय सांसदों के बीच एक समानुपात बनी रहे। अगर किसी उम्मीदवार को बहुमत प्राप्त नहीं होती है तो एक स्थापित प्रणाली है जिससे हारने वाले उम्मीदवारों को प्रतियोगिता से हटा दिया जाता है और उनको मिले वोट अन्य उम्मीदवारों को तबतक हस्तांतरित होता है, जब तक किसी एक को बहुमत नहीं मिलता।
Romanized Version
भारत के राष्ट्रपति, भारत गणराज्य के कार्यपालक अध्यक्ष होते हैं। संघ के सभी कार्यपालक कार्य उनके नाम से किये जाते हैं। अनुच्छेद 53 के अनुसार संघ की कार्यपालक शक्ति उनमें निहित हैं। वह भारतीय सशस्त्र सेनाओं का सर्वोच्च सेनानायक भी हैं। सभी प्रकार के आपातकाल लगाने व हटाने वाला, युद्ध/शांति की घोषणा करने वाला होता है। वह देश के प्रथम नागरिक हैं। भारतीय राष्ट्रपति का भारतीय नागरिक होना आवश्यक है।राष्ट्रपति के पास पर्याप्त शक्ति होती है। पर कुछ अपवादों के अलावा राष्ट्रपति के पद में निहित अधिकांश अधिकार वास्तव में प्रधानमंत्री की अध्यक्षता वाले मंत्रिपरिषद् के द्वारा उपयोग किए जाते हैं।भारत के राष्ट्रपति नई दिल्ली स्थित राष्ट्रपति भवन में रहते हैं, जिसे रायसीना हिल के नाम से भी जाना जाता है। राष्ट्रपति अधिकतम कितनी भी बार पद पर रह सकते हैं इसकी कोई सीमा तय नहीं है। भारत के राष्ट्रपति का चुनाव अनुच्छेद 55 के अनुसार आनुपातिक प्रतिनिधित्व प्रणाली के एकल संक्रमणीय मत पद्धति के द्वारा होता है। राष्ट्रपति को भारत के संसद के दोनो सदनों (लोक सभा और राज्य सभा) तथा साथ ही राज्य विधायिकाओं (विधान सभाओं) के निर्वाचित सदस्यों द्वारा पाँच वर्ष की अवधि के लिए चुना जाता है। वोट आवंटित करने के लिए एक फार्मूला इस्तेमाल किया गया है ताकि हर राज्य की जनसंख्या और उस राज्य से विधानसभा के सदस्यों द्वारा वोट डालने की संख्या के बीच एक अनुपात रहे और राज्य विधानसभाओं के सदस्यों और राष्ट्रीय सांसदों के बीच एक समानुपात बनी रहे। अगर किसी उम्मीदवार को बहुमत प्राप्त नहीं होती है तो एक स्थापित प्रणाली है जिससे हारने वाले उम्मीदवारों को प्रतियोगिता से हटा दिया जाता है और उनको मिले वोट अन्य उम्मीदवारों को तबतक हस्तांतरित होता है, जब तक किसी एक को बहुमत नहीं मिलता।Bharat K Rastrapati Bharat Ganrajya K Karyapalak Adhyaksh Hote Hain Sangh K Sabhi Karyapalak Karya Unke Naam Se Kiye Jaate Hain Anuchchhed 53 K Anusar Sangh Ki Karyapalak Shakti Unme Nihit Hain Wah Bhartiya Sashastra Sanao Ka Sarvochch Senanayak Bhi Hain Sabhi Prakar K Aapaatkaal Lagaane Va Hatane Wala Yuddh Shanti Ki Ghoshanaa Karne Wala Hota Hai Wah Desh K Pratham Nagrik Hain Bhartiya Rastrapati Ka Bhartiya Nagrik Hona Aavashyak Hai Rastrapati K Pass Paryapt Shakti Hoti Hai Per Kuch Apavadon K Alaava Rastrapati K Pad Mein Nihit Adhikansh Adhikar WASTAV Mein Pradhaanmatree Ki Adhyakshata Wale Mantriparishad K Dwara Upyog Kiye Jaate Hain Bharat K Rastrapati Nai Delhi Sthita Rastrapati Bhawan Mein Rahate Hain Jise Raysina Hill K Naam Se Bhi Jaana Jaata Hai Rastrapati Adhiktam Kitni Bhi Bar Pad Per Rah Sakte Hain Essaki Koi Seema Taya Nahin Hai Bharat K Rastrapati Ka Chunav Anuchchhed 55 K Anusar Anupatik Pratinidhitva Pranali K Aikala Sankramaniya Matt Paddhati K Dwara Hota Hai Rastrapati Co Bharat K Sansad K Dono Sadnon Lok Sabha Aur Rajya Sabha Tatha Sathe Hea Rajya Vidhayikaon Vidhan Sabhaon K Nirvaachit Sadasyon Dwara Paach Varsh Ki Awadhi K Lie Chuna Jaata Hai Voot Avantit Karne K Lie Ek Farmula Istemaal Kiya Gaya Hai Taki Her Rajya Ki Jansankhya Aur Oosh Rajya Se Vidhansabha K Sadasyon Dwara Voot Daalne Ki Sankhya K Beach Ek Anupat Rahe Aur Rajya Vidhanasabhaon K Sadasyon Aur Rashtriya Sansadon K Beach Ek Samaanupaat Bani Rahe Agar Kisi Ummidwaar Co Bahumat Prapt Nahin Hoti Hai To Ek Sthapit Pranali Hai Jisase Haarne Wale Ummidavaron Co Pratiyogita Se Hata Diya Jaata Hai Aur Unko Mile Voot Anya Ummidavaron Co Tabtak Hastantarit Hota Hai Jab Tak Kisi Ek Co Bahumat Nahin Milta
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches:Ek Rashtrapati Ya Rashtrapati Jo Sahi Hai ,


vokalandroid