केंद्र शासित प्रदेशों और भारत के पड़ोसी देशों की जानकारी क्या है? ...

मराठों और पुर्तगालियों के बीच लंबे संघर्ष के बाद 17 दिसंबर, 1779 को मराठा सरकार ने मित्रता सुनिशचित करने खातिर इस प्रदेश के कुछ गावों को 12,000 रुपए का राजस्व क्षतिपूर्ति के तौर पर पुर्तगालियों को सौंप दिया| जनता द्वारा 2 अगस्त,1954 को मुक्त कराने तक पुर्तगालियों ने इस प्रदेश पर शासन किया| 1954 से 1961 तक यह प्रदेश लगभग स्वतंत्र रूप से काम करता रहा जिसे 'स्वतंत्र दादरा एंव नगर हवेली प्रशासन'ने चलाया| लेकिन 11 अगस्त, 1961 को यह प्रदेश भारतीय संघ में शामिल हो गया और तब से भारत सरकार एक केंद्रशासित प्रदेश के रूप में इसका प्रशासन कर रही है| पुर्तगाल के चंगुल से इस क्षेत्र की मुक्ति के बाद से 'वरिष्ठ पंचायत' प्रशासन की परामर्शदात्री संस्था के रूप में कार्य कर रही थी परंतु इसे 1989 में भंग कर दिया गया और अखिल भारतीय स्तर पर संविधान संशोधन के अनुरूप दादरा और नगर हवेली जिला पंचायत और 11 ग्राम पंचायतों की एक प्रदेश परिषद गठित कर दी गई| दादरा और नगर हवेली 491 वर्ग कि.मी. में फैला हुआ छोटा-सा केंद्रशासित प्रदेश है| यह गुजरात और महाराष्ट्र जैसे राज्यों से घिरा हुआ है| इसके दो भाग हैं: एक दादरा और दूसरा नगरहवेली| निकटतम रेलवेस्टेशन वापी में है, जो सिलवासा से 18 किलोमीटर दूर है|
Romanized Version
मराठों और पुर्तगालियों के बीच लंबे संघर्ष के बाद 17 दिसंबर, 1779 को मराठा सरकार ने मित्रता सुनिशचित करने खातिर इस प्रदेश के कुछ गावों को 12,000 रुपए का राजस्व क्षतिपूर्ति के तौर पर पुर्तगालियों को सौंप दिया| जनता द्वारा 2 अगस्त,1954 को मुक्त कराने तक पुर्तगालियों ने इस प्रदेश पर शासन किया| 1954 से 1961 तक यह प्रदेश लगभग स्वतंत्र रूप से काम करता रहा जिसे 'स्वतंत्र दादरा एंव नगर हवेली प्रशासन'ने चलाया| लेकिन 11 अगस्त, 1961 को यह प्रदेश भारतीय संघ में शामिल हो गया और तब से भारत सरकार एक केंद्रशासित प्रदेश के रूप में इसका प्रशासन कर रही है| पुर्तगाल के चंगुल से इस क्षेत्र की मुक्ति के बाद से 'वरिष्ठ पंचायत' प्रशासन की परामर्शदात्री संस्था के रूप में कार्य कर रही थी परंतु इसे 1989 में भंग कर दिया गया और अखिल भारतीय स्तर पर संविधान संशोधन के अनुरूप दादरा और नगर हवेली जिला पंचायत और 11 ग्राम पंचायतों की एक प्रदेश परिषद गठित कर दी गई| दादरा और नगर हवेली 491 वर्ग कि.मी. में फैला हुआ छोटा-सा केंद्रशासित प्रदेश है| यह गुजरात और महाराष्ट्र जैसे राज्यों से घिरा हुआ है| इसके दो भाग हैं: एक दादरा और दूसरा नगरहवेली| निकटतम रेलवेस्टेशन वापी में है, जो सिलवासा से 18 किलोमीटर दूर है|Marathoon Aur Purtagaliyon K Beach Lanbe Sangharsh K Baad 17 Disambar 1779 Co Maratha Sarkar Ne Mitrata Sunishchit Karne Khaatir Is Pradesh K Kuch Gavo Co 12,000 Rupe Ka Rajaswa Kshatipoorti K Taur Per Purtagaliyon Co Sounp Diya Janta Dwara 2 Agust Co Mukta Karane Tak Purtagaliyon Ne Is Pradesh Per Shasan Kiya 1954 Se 1961 Tak Yeh Pradesh Lagbhag Swatantra Roop Se Kama Karata Raha Jise Swatantra Dadra Env Nagar Haveli Prashasan Ne Chalaya Lekin 11 Agust 1961 Co Yeh Pradesh Bhartiya Sangh Mein Shamil Ho Gaya Aur Taba Se Bharat Sarkar Ek Kendrashasit Pradesh K Roop Mein Iska Prashasan Car Rahi Hai Purtgaal K Changul Se Is Kshetra Ki Mukti K Baad Se Vareeshtha Panchayat Prashasan Ki Paramarshadatri Sanstha K Roop Mein Karya Car Rahi Thi Parantu Isse 1989 Mein Bhang Car Diya Gaya Aur Akhil Bhartiya Stra Per Samvidhan Sanshodhan K Anurupa Dadra Aur Nagar Haveli Jailaa Panchayat Aur 11 Gram Panchayaton Ki Ek Pradesh Parishad Gathit Car They Gi Dadra Aur Nagar Haveli 491 Varg Qi Mi Mein Faila Hua Chota Sa Kendrashasit Pradesh Hai Yeh Gujarat Aur Maharashtra Jaise Raajyo Se Ghira Hua Hai Iske Though Bhag Hain Ek Dadra Aur Doosra Nagarahaveli Nikatatam Relvesteshan Vapi Mein Hai Joe Silvasa Se 18 KM Dur Hai
Likes  0  Dislikes
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches:Kendra Shasit Pradeshon Aur Bharat Ke Padosi Deshon Ki Jankari Kya Hai ,


vokalandroid