भारत को मुसलमानों का देश क्यों नहीं माना जाता ? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत एक धर्मनिरपेक्ष राष्ट्र है और इसी वजह से भारत को एक मुस्लिम राष्ट्र नहीं माना जाता है भारत ना ही हिंदू राष्ट्र है ना ही किसी अन्य धर्म विशेष का राष्ट्र है यहां पर सभी धर्म के लोग जो हैं वह सामान माने जाते हैं हमारा संविधान भी यही कहता है कि भारत में जितने भी लोग हैं वह सभी एक समान है चाहे वह किस धर्म को मानने वाले क्यों ना हो
Romanized Version
भारत एक धर्मनिरपेक्ष राष्ट्र है और इसी वजह से भारत को एक मुस्लिम राष्ट्र नहीं माना जाता है भारत ना ही हिंदू राष्ट्र है ना ही किसी अन्य धर्म विशेष का राष्ट्र है यहां पर सभी धर्म के लोग जो हैं वह सामान माने जाते हैं हमारा संविधान भी यही कहता है कि भारत में जितने भी लोग हैं वह सभी एक समान है चाहे वह किस धर्म को मानने वाले क्यों ना होBharat Ek Dharmanirapeksh Rashtra Hai Aur Isi Wajah Se Bharat Ko Ek Muslim Rashtra Nahi Mana Jata Hai Bharat Na Hi Hindu Rashtra Hai Na Hi Kisi Anya Dharm Vishesh Ka Rashtra Hai Yahan Par Sabhi Dharm Ke Log Jo Hain Wah Saamaan Mane Jaate Hain Hamara Samvidhan Bhi Yahi Kahata Hai Ki Bharat Mein Jitne Bhi Log Hain Wah Sabhi Ek Saman Hai Chahe Wah Kis Dharm Ko Manane Wale Kyun Na Ho
Likes  16  Dislikes      
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

विश्व के कुछ ऐसे देश भी हैं जो तहस-नहस होने के बावजूद भी विकसित देश हो जाते हैं परंतु भारत विकासशील देश ही रहता है, ऐसा क्यों? ...

विश्व के कुल देशों से दिया जो कष्ट नाश होने के बावजूद भी विकसित हो जाते हैं क्योंकि उसके दे क्योंकि देश के पास में काफी पैसा है वह देश की आर्थिक स्थिति के हिसाब से अगर देखा जाए तो वह काफी डेवलप कंट्रीजवाब पढ़िये
ques_icon

भारत किस प्रकार का देश है विकसित या विकासशील विकसित और विकासशील में क्या अंतर होता है? ...

हमारी कंट्री कंट्री कंट्री नहीं हुई अभी टाइम लगेगा कंट्री वहां पर रेट ऑफ एजुकेशन हाई होता है ड्यूटी कंट्री में बिल्कुल कम होता है लिंग वाली लिंग डेवलप कंट्री बहुत अच्छा होता है टाइपिंग कंट्री में बिल्जवाब पढ़िये
ques_icon

भारत अपने मानव संशाधन का इस्तेमाल क्यों नहीं कर पा रहा है जबकि ये देश युवाओं का देश है? ...

हम आप से सवाल पूछा है कि जो भारत है वह अपने मानव संसाधन का इस्तेमाल क्यों नहीं कर पा रहा है जबकि हमारे देश में यूथ पावर बहुत ज्यादा है उसके कई कारण हैं पहली है कि आज के समय में जब इंटरनेट इतना ग्रुप कजवाब पढ़िये
ques_icon

आजादी के 67 साल बाद भी हम हमारे देश को विकसनशील बोलते है, विकसित क्यों नही ? ...

देखिए विकासशील देश से विकसित देश की जो दूरी है वह बहुत लंबी होती है और इसमें बहुत साल लगते हैं अगर हम देखें तो आजादी के समय जो हमारी सिचुएशन थी उसके मुकाबले में आज जो हमारी कॉल मी है जो है हमारा जो हैजवाब पढ़िये
ques_icon

यंग एंटरप्रेन्योर इंडिया में नए एंटरप्रेन्योर्स क्यों नहीं बन रहा है इसके पीछे क्या कारण है जो उन्नति शील देश में उन्नति डेवलप्ड कंट्री है उस कंट्री में हो रहा है लेकिन हमारे देश में नहीं? ...

हमारे देश में जोया ने डिनर है आगे नहीं बढ़ पाते हैं क्योंकि बहुत सारे फैक्टर मायने रखते हैं कि उन्हें कितना सपोर्ट मिल रहा है उनके परिवार या संबंधियों द्वारा इसके अलावा उन्हें सरकार द्वारा कितना सपोर्जवाब पढ़िये
ques_icon

हमारे भारत देश आदि से समृद्ध देश थी, अब वो administration में क्या कमी है जो अब भारत डेवलपिंग देश कहा जाता यह developed कहा जाता है ? ...

देखें भारत में अभी भी ऐसी कोई जगह है जहां पर पूरा डेवलपमेंट नहीं है कुछ जगह से आज बहुत ज्यादा खाली पड़ी हुई है और कुछ जगह है जहां पर विलेज एरिया जाए और हमारे गवर्नमेंट ऑफिसेज बहुत ज्यादा करप्ट है करप्जवाब पढ़िये
ques_icon

स्वतंत्रता के 70 वर्षों के बाद भी भारत एक विकासशील देश क्यों कहलाता है? ...

हेलो फ्रेंड्स स्वतंत्रता के 70 वर्षों बाद भी भारत एक विकासशील देश क्यों कहलाता है इसका मुख्य कारण यह है कि भारत की जनसंख्या इतनी ज्यादा है कि भारत का जीडीपी का लगभग लगभग 70% से अधिक संख्या है खाने पीनजवाब पढ़िये
ques_icon

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत में अगर मुसलमानों की जनसंख्या देखे तो वह कहीं 18.2 पर्सेंट आती है पूरी पॉपुलेशन के अकॉर्डिंग और ज्यादातर लोग हैं भारत में सबसे ज्यादा परसेंटेज है भारत में वह हिंदुओं की है और हिंदू लोग ही ज्यादा मिलते हैं भारत में इसीलिए आप भारत को मुसलमानों का देश नहीं कहा जाता है और ऐसा नहीं है कि भारत को हिंदुओं का देश कहा जाता है क्योंकि अगर हम कॉन्स्टिट्यूशन में देखे तो भारत को ऐसा नेशन किसी भी जाति के हिसाब से या किसी भी धर्म के हिसाब से नहीं कहा गया है वह सिर्फ यह कहता है कि भारत एक सेकुलर देश है अनेक से क्यों ना नेशन है जिसमें जो इंसान जो भी धर्म फॉलो करना चाहता है वह आराम से कर सकता है उनको पूरी पूरी और फ्रीडम होती है किसी भी धर्म को मानने की और उसको फॉलो करने की इसीलिए भारत को ना तो मुसलमानों का देश कहा जाता है और ना ही हिंदुओं का देश कहा जाता है और बाकी जितनी भी और रिलीजियस माइनॉरिटी हमारे देश में चाहे वह क्रिश्चियन हो सिख हो जैन हो बुद्धिज्म हो तो उन सब को भी एक स्टेटस दिया गया मेरे देश में और किसी भी जाति को या किसी भी धर्म को भारत देश में नहीं ऐसे स्थापित किया गया है कि भारत को उसी धर्म जाति के नाम से जाना जाए इसीलिए भारत को मुस्लिमों का देश नहीं कहा जाता है और उसको सिर्फ एक से क्यों नेशन कहा जाता है जहां पर सभी जाति के लोग सभी धर्म के लोग एक साथ आराम से रह सकते हैं और कोई किसी को यह हक या फिर किसी के ऊपर फोर्स नहीं कर सकता किसी भी दूसरे धर्म को फॉलो करने के लिए
Romanized Version
भारत में अगर मुसलमानों की जनसंख्या देखे तो वह कहीं 18.2 पर्सेंट आती है पूरी पॉपुलेशन के अकॉर्डिंग और ज्यादातर लोग हैं भारत में सबसे ज्यादा परसेंटेज है भारत में वह हिंदुओं की है और हिंदू लोग ही ज्यादा मिलते हैं भारत में इसीलिए आप भारत को मुसलमानों का देश नहीं कहा जाता है और ऐसा नहीं है कि भारत को हिंदुओं का देश कहा जाता है क्योंकि अगर हम कॉन्स्टिट्यूशन में देखे तो भारत को ऐसा नेशन किसी भी जाति के हिसाब से या किसी भी धर्म के हिसाब से नहीं कहा गया है वह सिर्फ यह कहता है कि भारत एक सेकुलर देश है अनेक से क्यों ना नेशन है जिसमें जो इंसान जो भी धर्म फॉलो करना चाहता है वह आराम से कर सकता है उनको पूरी पूरी और फ्रीडम होती है किसी भी धर्म को मानने की और उसको फॉलो करने की इसीलिए भारत को ना तो मुसलमानों का देश कहा जाता है और ना ही हिंदुओं का देश कहा जाता है और बाकी जितनी भी और रिलीजियस माइनॉरिटी हमारे देश में चाहे वह क्रिश्चियन हो सिख हो जैन हो बुद्धिज्म हो तो उन सब को भी एक स्टेटस दिया गया मेरे देश में और किसी भी जाति को या किसी भी धर्म को भारत देश में नहीं ऐसे स्थापित किया गया है कि भारत को उसी धर्म जाति के नाम से जाना जाए इसीलिए भारत को मुस्लिमों का देश नहीं कहा जाता है और उसको सिर्फ एक से क्यों नेशन कहा जाता है जहां पर सभी जाति के लोग सभी धर्म के लोग एक साथ आराम से रह सकते हैं और कोई किसी को यह हक या फिर किसी के ऊपर फोर्स नहीं कर सकता किसी भी दूसरे धर्म को फॉलो करने के लिएBharat Mein Agar Musalmano Ki Jansankhya Dekhe To Wah Kahin 18.2 Percent Aati Hai Puri Population Ke According Aur Jyadatar Log Hain Bharat Mein Sabse Jyada Percentage Hai Bharat Mein Wah Hinduon Ki Hai Aur Hindu Log Hi Jyada Milte Hain Bharat Mein Isliye Aap Bharat Ko Musalmano Ka Desh Nahi Kaha Jata Hai Aur Aisa Nahi Hai Ki Bharat Ko Hinduon Ka Desh Kaha Jata Hai Kyonki Agar Hum Constitution Mein Dekhe To Bharat Ko Aisa Nation Kisi Bhi Jati Ke Hisab Se Ya Kisi Bhi Dharm Ke Hisab Se Nahi Kaha Gaya Hai Wah Sirf Yeh Kahata Hai Ki Bharat Ek Secular Desh Hai Anek Se Kyun Na Nation Hai Jisme Jo Insaan Jo Bhi Dharm Follow Karna Chahta Hai Wah Aaram Se Kar Sakta Hai Unko Puri Puri Aur Freedom Hoti Hai Kisi Bhi Dharm Ko Manane Ki Aur Usko Follow Karne Ki Isliye Bharat Ko Na To Musalmano Ka Desh Kaha Jata Hai Aur Na Hi Hinduon Ka Desh Kaha Jata Hai Aur Baki Jitni Bhi Aur Religious Minority Hamare Desh Mein Chahe Wah Krishchiyan Ho Sikh Ho Jain Ho Buddhism Ho To Un Sab Ko Bhi Ek Status Diya Gaya Mere Desh Mein Aur Kisi Bhi Jati Ko Ya Kisi Bhi Dharm Ko Bharat Desh Mein Nahi Aise Sthapit Kiya Gaya Hai Ki Bharat Ko Ussi Dharm Jati Ke Naam Se Jana Jaye Isliye Bharat Ko Muslimo Ka Desh Nahi Kaha Jata Hai Aur Usko Sirf Ek Se Kyun Nation Kaha Jata Hai Jahan Par Sabhi Jati Ke Log Sabhi Dharm Ke Log Ek Saath Aaram Se Rah Sakte Hain Aur Koi Kisi Ko Yeh Haq Ya Phir Kisi Ke Upar Force Nahi Kar Sakta Kisi Bhi Dusre Dharm Ko Follow Karne Ke Liye
Likes  3  Dislikes      
WhatsApp_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches:Bharat Ko Musalmanon Ka Desh Kyon Nahi Mana Jata ?,Why Is India Not Considered A Muslim Country?,


vokalandroid