क्या विश्व की आधी से अधिक जनसंख्या दक्षिण तथा दक्षिणपूर्वी एशियाई देश में है? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

उसका मेन कारण है कि दक्षिण दक्षिण पूर्वी एशियाई देशों में मोमडन कंट्रीज अधिक है और मॉडर्न कंट्रीज में इन्हें संतान उत्पत्ति पर कोई प्रतिबंध नहीं होता है क्योंकि इनके धार्मिक विचारों के अनुसार यह सब औलाद जो होती है वह अल्लाह की देन मानते हैं इसलिए दक्षिण पूर्वी एशियाई देशों का जनसंख्या घनत्व सर्वाधिक है तो विश्व की आधी जनसंख्या लगभग इन्हीं देशों में रहती है
Romanized Version
उसका मेन कारण है कि दक्षिण दक्षिण पूर्वी एशियाई देशों में मोमडन कंट्रीज अधिक है और मॉडर्न कंट्रीज में इन्हें संतान उत्पत्ति पर कोई प्रतिबंध नहीं होता है क्योंकि इनके धार्मिक विचारों के अनुसार यह सब औलाद जो होती है वह अल्लाह की देन मानते हैं इसलिए दक्षिण पूर्वी एशियाई देशों का जनसंख्या घनत्व सर्वाधिक है तो विश्व की आधी जनसंख्या लगभग इन्हीं देशों में रहती हैUska Main Kaaran Hai Ki Dakshin Dakshin Purvi Asia Deshon Mein Momadan Countries Adhik Hai Aur Modern Countries Mein Inhen Santan Utpatti Par Koi Pratibandh Nahi Hota Hai Kyonki Inke Dharmik Vicharon Ke Anusaar Yeh Sab Aulad Jo Hoti Hai Wah Allah Ki Then Maante Hain Isliye Dakshin Purvi Asia Deshon Ka Jansankhya Ghanatva Sarvadhik Hai Toh Vishwa Ki Aadhi Jansankhya Lagbhag Inhin Deshon Mein Rehti Hai
Likes  9  Dislikes      
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

और चीन दो ऐसे देश है जो जिंदगी जनसंख्या और विश्व में पहले और दूसरे नंबर पर है तथा की संख्या बहुत अधिक है इसलिए विश्व की आधी से अधिक जनसंख्या दक्षिण तथा दक्षिण पूर्वी एशिया में देश में है
Romanized Version
और चीन दो ऐसे देश है जो जिंदगी जनसंख्या और विश्व में पहले और दूसरे नंबर पर है तथा की संख्या बहुत अधिक है इसलिए विश्व की आधी से अधिक जनसंख्या दक्षिण तथा दक्षिण पूर्वी एशिया में देश में हैAur China Do Aise Desh Hai Jo Zindagi Jansankhya Aur Vishwa Mein Pehle Aur Dusre Number Par Hai Tatha Ki Sankhya Bahut Adhik Hai Isliye Vishwa Ki Aadhi Se Adhik Jansankhya Dakshin Tatha Dakshin Purvi Asia Mein Desh Mein Hai
Likes  0  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां जी हां विश्व की आधी से अधिक जनसंख्या के अनुसार दक्षिण उत्तर दक्षिण पूर्व एशियाई देशों में एशिया में पता है कि इसे सबसे बड़ा देश है वहीं पर दक्षिण में है इंडिया और चाइना दोनों ही आते हैं और आपको यह बताओ कि इंडिया और साइनस है दोनों की पापुलेशन से काफी ज्यादा है जहां चाइना की पापुलेशन सब 148 का दौर है इंडिया की पापुलेशन करीब से 36 करोड़ दोनों की दोनों पापुलेशन अगर महिलाएं तुम दोनों का इंटरेस्ट ही काफी ज्यादा पॉपुलेशन हो जाता है
Romanized Version
हां जी हां विश्व की आधी से अधिक जनसंख्या के अनुसार दक्षिण उत्तर दक्षिण पूर्व एशियाई देशों में एशिया में पता है कि इसे सबसे बड़ा देश है वहीं पर दक्षिण में है इंडिया और चाइना दोनों ही आते हैं और आपको यह बताओ कि इंडिया और साइनस है दोनों की पापुलेशन से काफी ज्यादा है जहां चाइना की पापुलेशन सब 148 का दौर है इंडिया की पापुलेशन करीब से 36 करोड़ दोनों की दोनों पापुलेशन अगर महिलाएं तुम दोनों का इंटरेस्ट ही काफी ज्यादा पॉपुलेशन हो जाता हैHaan Ji Haan Vishwa Ki Aadhi Se Adhik Jansankhya Ke Anusaar Dakshin Uttar Dakshin Purv Asia Deshon Mein Asia Mein Pata Hai Ki Ise Sabse Bada Desh Hai Wahin Par Dakshin Mein Hai India Aur China Dono Hi Aate Hain Aur Aapko Yeh Batao Ki India Aur Sinus Hai Dono Ki Population Se Kafi Zyada Hai Jahan China Ki Population Sab 148 Ka Daur Hai India Ki Population Kareeb Se 36 Crore Dono Ki Dono Population Agar Mahilaen Tum Dono Ka Interest Hi Kafi Zyada Population Ho Jata Hai
Likes  13  Dislikes      
WhatsApp_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches:Kya vishwa Ki Aadhi Se Adhik Jansankhya Dakshin Tatha Dakshinapurvi Asia Desh Mein Hai,Is There More Than Half Of The World's Population In South And Southeast Asian Countries?,


vokalandroid