मोदी पकौड़ा क्यों बेच रहे है ? ...

नाथू नरेंद्र मोदी जी स्वयं पकोड़े बेच रहे हैं ना ही वह यह कह रहे हैं कि आज के शिक्षित युवा और जो बेरोजगार हैं सभी पकोड़े बेचे यह सुनकर यह उदाहरण है आज के युवाओं को बेरोजगारों को और जो व्यस्त हो गए हैं नौकरी पाने के लिए उन लोगों को कि आप कुछ भी कर सकते हैं आपके पास वह हिम्मत है वह ताकत है बुद्धिमान है वो झड़ी है जो आप को इस मुकाम तक पहुंचा सकते हैं आप अपना कोई भी व्यवसाय खोल सकते हैं और दो और लोगों को भी रोजगार दे सकते हैं इसका उदाहरण था जिसे आप लोग उन्हें लेकर बैठ गए हैं आप लोग उस उदाहरण के पीछे की भावना को समझना ही नहीं चाहते हैं इसलिए आप बार-बार इस मुद्दे को उठा रहे हैं मुझे लगता है उनकी इसके पीछे से यह भावना थी क्यों नहीं विश्वास है कि उनके देश के युवाओं में इतनी ताकत इतनी समझ इतनी बुद्धि है कि वह स्वाभिमान से अपनी जीविका चला सकते कोई भी व्यवसाय खोल सकते हैं और दो और लोगों को रोजगार दे सकते हैं जब तक उन्हें कोई अच्छी नौकरी नहीं मिल रही है ऐसे हैं जो बहुत व्रत करने के बाद भी नौकरी नहीं पढ़ सकते हैं तो गरीबी से और आर्थिक रुप से संपन्न होना चाहते हैं निकलना चाहते हैं अगर गरीबी से तुमने अपना कुछ व्यवसाय करना चाहिए और उसे आगे बढ़ा कर अपनी जीविका स्वाभिमान से चलानी चाहिए जब भी नौकरी मिले वह से ले सकते हैं तो यह एक उदाहरण था जो आप लोगों को दिया गया था कि आप कुछ भी कर सकते हैं कि प्रधानमंत्री का अपने देश के युवाओं पर विश्वास है कि मेरे देश के युवा कुछ भी कर सकते हैं अपना व्यवसाय किसी भी तरह का व्यवसाय करके अपने संसाधनों से अपनी जीविका आराम से स्वाभिमान से चला सकते हैं इसलिए मुझे लगता है आप लोगों को उनकी भावना को समझना चाहिए और उस ओर अपने कदम बढ़ाने चाहिए आप जरुर सफल होंगेNathu Narendra Modi Ji Swayam Pakode Bech Rahe Hain Na Hi Wah Yeh Keh Rahe Hain Ki Aaj Ke Shikshit Yuva Aur Jo Berojgar Hain Sabhi Pakode Beche Yeh Sunkar Yeh Udaharan Hai Aaj Ke Yuvaon Ko Berojgaron Ko Aur Jo Vyasta Ho Gaye Hain Naukri Pane Ke Liye Un Logon Ko Ki Aap Kuch Bhi Kar Sakte Hain Aapke Paas Wah Himmat Hai Wah Takat Hai Buddhimaan Hai Vo Jhadi Hai Jo Aap Ko Is Mukam Tak Pahuncha Sakte Hain Aap Apna Koi Bhi Vyavasaya Khol Sakte Hain Aur Do Aur Logon Ko Bhi Rojgar De Sakte Hain Iska Udaharan Tha Jise Aap Log Unhen Lekar Baith Gaye Hain Aap Log Us Udaharan Ke Piche Ki Bhavna Ko Samajhna Hi Nahi Chahte Hain Isliye Aap Baar Baar Is Mudde Ko Utha Rahe Hain Mujhe Lagta Hai Unki Iske Piche Se Yeh Bhavna Thi Kyun Nahi Vishwas Hai Ki Unke Desh Ke Yuvaon Mein Itni Takat Itni Samajh Itni Buddhi Hai Ki Wah Swabhiman Se Apni Jeevika Chala Sakte Koi Bhi Vyavasaya Khol Sakte Hain Aur Do Aur Logon Ko Rojgar De Sakte Hain Jab Tak Unhen Koi Acchi Naukri Nahi Mil Rahi Hai Aise Hain Jo Bahut Vrat Karne Ke Baad Bhi Naukri Nahi Padh Sakte Hain To Garibi Se Aur Aarthik Roop Se Sanpann Hona Chahte Hain Nikalna Chahte Hain Agar Garibi Se Tumne Apna Kuch Vyavasaya Karna Chahiye Aur Use Aage Badha Kar Apni Jeevika Swabhiman Se Chalani Chahiye Jab Bhi Naukri Mile Wah Se Le Sakte Hain To Yeh Ek Udaharan Tha Jo Aap Logon Ko Diya Gaya Tha Ki Aap Kuch Bhi Kar Sakte Hain Ki Pradhanmantri Ka Apne Desh Ke Yuvaon Par Vishwas Hai Ki Mere Desh Ke Yuva Kuch Bhi Kar Sakte Hain Apna Vyavasaya Kisi Bhi Tarah Ka Vyavasaya Karke Apne Sansadhanon Se Apni Jeevika Aaram Se Swabhiman Se Chala Sakte Hain Isliye Mujhe Lagta Hai Aap Logon Ko Unki Bhavna Ko Samajhna Chahiye Aur Us Oar Apne Kadam Badhane Chahiye Aap Zaroor Safal Honge
Likes  1  Dislikes      
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

क्या प्रधानमंत्री जी के उदाहरण अनुसार आप पकौड़े बेचकर स्वरोजगार पाना चाहेंगे ? ...

आजकल देश में एक नया ट्रेन चल रहा है प्रधानमंत्री का मजाक बनाना पर प्रधानमंत्री को अभद्र भाषा में बात करना प्रधानमंत्री के बारे में अभद्र भाषा का प्रयोग करना एक आम नागरिक होते हुए भी प्रधानमंत्री के पदजवाब पढ़िये
ques_icon

क्या मोदी का पकौड़े बेचने वाली बात सही है जिसमे उन्होंने इसको भी एम्पलॉयमेंट माना है? ...

देखिए बिल्कुल कहा था लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि एंप्लॉयमेंट करने के लिए आपको पकोड़े विश नहीं आवश्यक है इस को गलत तरीके से प्रजेंट करना यह सोशल मीडिया क्या पड़ गई है आई हो अगर आप एक छोटी सी एजुकेटेडजवाब पढ़िये
ques_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches:Modi Pakauda Kyon Bech Rahe Hai ?,Why Is Modi Selling Pakodas?,


vokalandroid