क्या भूत होते हैं? ...

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां भूत होते हैं हमारे आसपास ही होते हैं अक्सर हमने देख नहीं पाते जान नहीं पाते लेकिन हमारे आस पास इसलिए होते हैं क्योंकि यह कई बारी हमसे भी बनते हैं मेरा तात्पर्य उन भूत होते हैं जिन्हें हम अक्सर मजाक में बोल देते हैं किसके ऊपर फैशन का भूत चढ़ा है उसके ऊपर बिजनेस का भूत चढ़ा है वगैरे वगैरे जी हां भूत यह सबूत ही है अगर आप एक चीज बताओ जो दे तो कभी सुना है कि से कुत्ते का भूत था या घोड़ी का भूत था ऐसे नहीं कि उनका भूत और भविष्य नहीं होता लेकिन उनके हिसाब से समय जैसे हम देखते हैं वैसे नहीं होता उनकी जीवन में अनुभूतियां होती है समय नहीं हमारे जीवन में अनुभूति होती हैं समय के अनुसार इसीलिए घड़ी के बारे में उन्हें समझाना पड़ता है फिर भी जानवर नहीं समझते मनुष्य समय को जानता है और समय के अनुसार वह अपने आप को समझता है अपने अनुभूतियों को रखता है एक छोटा सा उदाहरण लीजिए कि कोई इंसान था जो जवानी में बिजनेस करना चाहता था कर नहीं पाया ठीक है हुआ क्या चुप बुरा हुआ उसके अंदर इच्छा रह गई अक्सर हम यह बोलते हैं कि भूत तब बनते हैं जब को कोई इच्छा ही रह जाती है और मनुष्य अपने जीवन काल में से पूरा नहीं कर पाता है मुझे पूरा हो गया तो वह जवान नहीं रहा उसकी जवानी बाला रो मर चुका है लेकिन उसकी जवानी में करने वाला इच्छा अभी बरकरार है इसलिए जब वह किसी जवान बंदे को देखता है जिसमें पोटेंशियल देखता है जिसमें यह टिकता है कि वह बिजनेस कर सकता है वह उसे बोलता क्यों नहीं करता है और उस दौरान वह अपने अंदर के इस भूत को उस बंदे में डाल देता है जो शरीर उसे केवल दिखता है जो सही उसको उपयुक्त दिखता है दूसरा क्योंकि उपयुक्त है और उसको यह समझ में आता है वह बिजनेस करता भी आपने सुने होंगे कुछ ऐसे भूत होते हैं जो आपके लिए अच्छा भी करते हैं और ऐसे भी भूत होते हैं जो आपके लिए हानिकारक होते हैं अगर यह बंदा बिजनेस करने लगे बहुत अच्छा हो तो उसके डरपोक भूत गया जिससे कि उसकी जिंदगी चका चांद हो गए और वहीं अगर बिजनेस में डूब गया उसके बाद उदाहरण में इसके दे रहा था कि अक्सर ऐसे ही भूत हमारे आसपास भरे हुए रहते हैं चाहे किसी का बिजनेस करने का हो किसी का फैशन का हो किसी का गाना गाने का हो यहां तक कि माता-पिता के बनाए भूत पक्ष में गुजर जाते हैं या कई बारी बच्चों के माता-पिता में भी दिया सकते हैं यह जो भूत होते हैं यह हमारे मन से उत्पन्न होते हैं हमारे दिमाग में रहते हैं हमारे साथ रहते हैं हमने भी कई भूत धारण किए होंगे लेकिन उनमें से जो हमारे लिए हानिकारक है हम हैं उन्हें ढूंढ कर अपने अंदर से निकाल देना चाहिए और वह भूत जो हमारे लिए सहायक है उन्हें प्रोत्साहित करना चाहिए लेकिन आसपास में हर गुजरते हुए भूत को हमें पकड़ना नहीं चाहिए सतर्क रहना चाहिए ऐसे कई सारे भूत जो हमारे आसपास मंडरा रहे हैं कई बार यह भूत हमारे बिना जान के भी घुस जाते हैं जैसे कि किसी दोस्त ने किसी और को कहा किसी फिल्म में सुना कहीं पर पढ़ लिया भूत विभिन्न फॉर रूप लेते हैं कभी लिखाई में कभी तस्वीरों में कभी किसी की बातचीत में और यह कहीं पर भी जा सकते हैं कहीं पर भी फैलते हैं तो यह है यह मैं इसलिए बोल रहा था कि अक्सर लोग पूछते हैं कि भूत होते हैं सामने देख क्यों नहीं पाते देख क्यों नहीं पाते हो क्योंकि आपसे तक नहीं रहते हो जवाब सतर्क रहने लगे इस प्रकार के छोटे-मोटे भूत तो देख नहीं लेंगे इसलिए होता है क्योंकि असल में भी जो भूतनी से लोग बोलते हैं जिसके लिए लोग जादू टोना करते हैं क्या-क्या करते हैं सभी इसी प्रकार की शक्तियां होती है रोज होती है जो बंडल होकर आगे बढ़ती हैं और इन चीजों को अगर आप समझ जाए कि वह अलग नहीं होती है इनके प्रभाव और इंटेंसिटी अलग हो सकते हैं इनके आउटपुट अलग हो सकते हैं लेकिन होते सब बंडल आफ एनर्जी हैं जिनको देखकर जिनको हम मैनेज कर सकते हैं तो मैं यही कहूंगा कि भूत होते हैं हमारे आसपास भी होते हैं कई बार एक अनजाने में हमें क्रिएट कर देते हैं और कई बारी बहुत सारी छोटी-छोटी मेरा कभी किसी दोस्त से झगड़ा हो गया किसी का डिवोर्स हो गया ऐसे कई सारे इवेंट्स होते हैं जिसमें भूत पथक रुपए बनते हैं किसी के ऊपर बहुत ज्यादा गुस्सा हो क्या रिश्ता खराब हो गया तो उस वह फिल्म जो मेरे अंदर पैदा हुआ था जिसे कांड में रास्ता खराब हुआ वह फीलिंग अपने आप में एक भूत बन जाएगा और वह भूत में अपने अंदर रख लूंगा और बहुत सारा चांस यह है कि वह कहीं चले किसी और के पास पहुंच जाए और किसी और कैसे हो तुम्हारे पास पहुंचते हैं हमेशा तत्पर जानना चाहिए कि भूत आया है यह मैं नहीं है यह मेरा गुण नहीं है सुना है धन्यवाद
Romanized Version
जी हां भूत होते हैं हमारे आसपास ही होते हैं अक्सर हमने देख नहीं पाते जान नहीं पाते लेकिन हमारे आस पास इसलिए होते हैं क्योंकि यह कई बारी हमसे भी बनते हैं मेरा तात्पर्य उन भूत होते हैं जिन्हें हम अक्सर मजाक में बोल देते हैं किसके ऊपर फैशन का भूत चढ़ा है उसके ऊपर बिजनेस का भूत चढ़ा है वगैरे वगैरे जी हां भूत यह सबूत ही है अगर आप एक चीज बताओ जो दे तो कभी सुना है कि से कुत्ते का भूत था या घोड़ी का भूत था ऐसे नहीं कि उनका भूत और भविष्य नहीं होता लेकिन उनके हिसाब से समय जैसे हम देखते हैं वैसे नहीं होता उनकी जीवन में अनुभूतियां होती है समय नहीं हमारे जीवन में अनुभूति होती हैं समय के अनुसार इसीलिए घड़ी के बारे में उन्हें समझाना पड़ता है फिर भी जानवर नहीं समझते मनुष्य समय को जानता है और समय के अनुसार वह अपने आप को समझता है अपने अनुभूतियों को रखता है एक छोटा सा उदाहरण लीजिए कि कोई इंसान था जो जवानी में बिजनेस करना चाहता था कर नहीं पाया ठीक है हुआ क्या चुप बुरा हुआ उसके अंदर इच्छा रह गई अक्सर हम यह बोलते हैं कि भूत तब बनते हैं जब को कोई इच्छा ही रह जाती है और मनुष्य अपने जीवन काल में से पूरा नहीं कर पाता है मुझे पूरा हो गया तो वह जवान नहीं रहा उसकी जवानी बाला रो मर चुका है लेकिन उसकी जवानी में करने वाला इच्छा अभी बरकरार है इसलिए जब वह किसी जवान बंदे को देखता है जिसमें पोटेंशियल देखता है जिसमें यह टिकता है कि वह बिजनेस कर सकता है वह उसे बोलता क्यों नहीं करता है और उस दौरान वह अपने अंदर के इस भूत को उस बंदे में डाल देता है जो शरीर उसे केवल दिखता है जो सही उसको उपयुक्त दिखता है दूसरा क्योंकि उपयुक्त है और उसको यह समझ में आता है वह बिजनेस करता भी आपने सुने होंगे कुछ ऐसे भूत होते हैं जो आपके लिए अच्छा भी करते हैं और ऐसे भी भूत होते हैं जो आपके लिए हानिकारक होते हैं अगर यह बंदा बिजनेस करने लगे बहुत अच्छा हो तो उसके डरपोक भूत गया जिससे कि उसकी जिंदगी चका चांद हो गए और वहीं अगर बिजनेस में डूब गया उसके बाद उदाहरण में इसके दे रहा था कि अक्सर ऐसे ही भूत हमारे आसपास भरे हुए रहते हैं चाहे किसी का बिजनेस करने का हो किसी का फैशन का हो किसी का गाना गाने का हो यहां तक कि माता-पिता के बनाए भूत पक्ष में गुजर जाते हैं या कई बारी बच्चों के माता-पिता में भी दिया सकते हैं यह जो भूत होते हैं यह हमारे मन से उत्पन्न होते हैं हमारे दिमाग में रहते हैं हमारे साथ रहते हैं हमने भी कई भूत धारण किए होंगे लेकिन उनमें से जो हमारे लिए हानिकारक है हम हैं उन्हें ढूंढ कर अपने अंदर से निकाल देना चाहिए और वह भूत जो हमारे लिए सहायक है उन्हें प्रोत्साहित करना चाहिए लेकिन आसपास में हर गुजरते हुए भूत को हमें पकड़ना नहीं चाहिए सतर्क रहना चाहिए ऐसे कई सारे भूत जो हमारे आसपास मंडरा रहे हैं कई बार यह भूत हमारे बिना जान के भी घुस जाते हैं जैसे कि किसी दोस्त ने किसी और को कहा किसी फिल्म में सुना कहीं पर पढ़ लिया भूत विभिन्न फॉर रूप लेते हैं कभी लिखाई में कभी तस्वीरों में कभी किसी की बातचीत में और यह कहीं पर भी जा सकते हैं कहीं पर भी फैलते हैं तो यह है यह मैं इसलिए बोल रहा था कि अक्सर लोग पूछते हैं कि भूत होते हैं सामने देख क्यों नहीं पाते देख क्यों नहीं पाते हो क्योंकि आपसे तक नहीं रहते हो जवाब सतर्क रहने लगे इस प्रकार के छोटे-मोटे भूत तो देख नहीं लेंगे इसलिए होता है क्योंकि असल में भी जो भूतनी से लोग बोलते हैं जिसके लिए लोग जादू टोना करते हैं क्या-क्या करते हैं सभी इसी प्रकार की शक्तियां होती है रोज होती है जो बंडल होकर आगे बढ़ती हैं और इन चीजों को अगर आप समझ जाए कि वह अलग नहीं होती है इनके प्रभाव और इंटेंसिटी अलग हो सकते हैं इनके आउटपुट अलग हो सकते हैं लेकिन होते सब बंडल आफ एनर्जी हैं जिनको देखकर जिनको हम मैनेज कर सकते हैं तो मैं यही कहूंगा कि भूत होते हैं हमारे आसपास भी होते हैं कई बार एक अनजाने में हमें क्रिएट कर देते हैं और कई बारी बहुत सारी छोटी-छोटी मेरा कभी किसी दोस्त से झगड़ा हो गया किसी का डिवोर्स हो गया ऐसे कई सारे इवेंट्स होते हैं जिसमें भूत पथक रुपए बनते हैं किसी के ऊपर बहुत ज्यादा गुस्सा हो क्या रिश्ता खराब हो गया तो उस वह फिल्म जो मेरे अंदर पैदा हुआ था जिसे कांड में रास्ता खराब हुआ वह फीलिंग अपने आप में एक भूत बन जाएगा और वह भूत में अपने अंदर रख लूंगा और बहुत सारा चांस यह है कि वह कहीं चले किसी और के पास पहुंच जाए और किसी और कैसे हो तुम्हारे पास पहुंचते हैं हमेशा तत्पर जानना चाहिए कि भूत आया है यह मैं नहीं है यह मेरा गुण नहीं है सुना है धन्यवादJi Haan Bhoot Hote Hain Hamare Aaspass Hi Hote Hain Aksar Humne Dekh Nahi Paate Jaan Nahi Paate Lekin Hamare Aas Paas Isliye Hote Hain Kyonki Yeh Kai Baari Humse Bhi Bante Hain Mera Tatparya Un Bhoot Hote Hain Jinhen Hum Aksar Mazak Mein Bol Dete Hain Kiske Upar Fashion Ka Bhoot Chadha Hai Uske Upar Business Ka Bhoot Chadha Hai Vagaire Vagaire Ji Haan Bhoot Yeh Sabut Hi Hai Agar Aap Ek Cheez Batao Jo De Toh Kabhi Suna Hai Ki Se Kutte Ka Bhoot Tha Ya Ghodi Ka Bhoot Tha Aise Nahi Ki Unka Bhoot Aur Bhavishya Nahi Hota Lekin Unke Hisab Se Samay Jaise Hum Dekhte Hain Waise Nahi Hota Unki Jeevan Mein Anubhutiyan Hoti Hai Samay Nahi Hamare Jeevan Mein Anubhuti Hoti Hain Samay Ke Anusaar Isliye Ghadi Ke Bare Mein Unhein Samajhana Padta Hai Phir Bhi Janwar Nahi Samajhte Manushya Samay Ko Jaanta Hai Aur Samay Ke Anusaar Wah Apne Aap Ko Samajhata Hai Apne Anubhootiyon Ko Rakhta Hai Ek Chota Sa Udaharan Lijiye Ki Koi Insaan Tha Jo Jawaani Mein Business Karna Chahta Tha Kar Nahi Paya Theek Hai Hua Kya Chup Bura Hua Uske Andar Iccha Reh Gayi Aksar Hum Yeh Bolte Hain Ki Bhoot Tab Bante Hain Jab Ko Koi Iccha Hi Reh Jati Hai Aur Manushya Apne Jeevan Kaal Mein Se Pura Nahi Kar Pata Hai Mujhe Pura Ho Gaya Toh Wah Jawaan Nahi Raha Uski Jawaani Bala Ro Mar Chuka Hai Lekin Uski Jawaani Mein Karne Vala Iccha Abhi Barkaraar Hai Isliye Jab Wah Kisi Jawaan Bande Ko Dekhta Hai Jisme Potential Dekhta Hai Jisme Yeh Tikta Hai Ki Wah Business Kar Sakta Hai Wah Use Bolta Kyon Nahi Karta Hai Aur Us Dauran Wah Apne Andar Ke Is Bhoot Ko Us Bande Mein Daal Deta Hai Jo Sharir Use Keval Dikhta Hai Jo Sahi Usko Upyukt Dikhta Hai Doosra Kyonki Upyukt Hai Aur Usko Yeh Samajh Mein Aata Hai Wah Business Karta Bhi Aapne Sune Honge Kuch Aise Bhoot Hote Hain Jo Aapke Liye Accha Bhi Karte Hain Aur Aise Bhi Bhoot Hote Hain Jo Aapke Liye Haanikarak Hote Hain Agar Yeh Banda Business Karne Lage Bahut Accha Ho Toh Uske Darpok Bhoot Gaya Jisse Ki Uski Zindagi Chaka Chand Ho Gaye Aur Wahin Agar Business Mein Doob Gaya Uske Baad Udaharan Mein Iske De Raha Tha Ki Aksar Aise Hi Bhoot Hamare Aaspass Bhare Hue Rehte Hain Chahe Kisi Ka Business Karne Ka Ho Kisi Ka Fashion Ka Ho Kisi Ka Gaana Gaane Ka Ho Yahan Tak Ki Mata Pita Ke Banaye Bhoot Paksh Mein Gujar Jaate Hain Ya Kai Baari Bacchon Ke Mata Pita Mein Bhi Diya Sakte Hain Yeh Jo Bhoot Hote Hain Yeh Hamare Man Se Utpann Hote Hain Hamare Dimag Mein Rehte Hain Hamare Saath Rehte Hain Humne Bhi Kai Bhoot Dharan Kiye Honge Lekin Unmen Se Jo Hamare Liye Haanikarak Hai Hum Hain Unhein Dhundh Kar Apne Andar Se Nikaal Dena Chahiye Aur Wah Bhoot Jo Hamare Liye Sahaayak Hai Unhein Protsahit Karna Chahiye Lekin Aaspass Mein Har Gujarate Hue Bhoot Ko Humein Pakadna Nahi Chahiye Satark Rehna Chahiye Aise Kai Saare Bhoot Jo Hamare Aaspass Mandra Rahe Hain Kai Baar Yeh Bhoot Hamare Bina Jaan Ke Bhi Ghus Jaate Hain Jaise Ki Kisi Dost Ne Kisi Aur Ko Kaha Kisi Film Mein Suna Kahin Par Padh Liya Bhoot Vibhinn For Roop Lete Hain Kabhi Likhai Mein Kabhi Tasviron Mein Kabhi Kisi Ki Batchit Mein Aur Yeh Kahin Par Bhi Ja Sakte Hain Kahin Par Bhi Failate Hain Toh Yeh Hai Yeh Main Isliye Bol Raha Tha Ki Aksar Log Poochhte Hain Ki Bhoot Hote Hain Saamne Dekh Kyon Nahi Paate Dekh Kyon Nahi Paate Ho Kyonki Aapse Tak Nahi Rehte Ho Jawab Satark Rehne Lage Is Prakar Ke Chhote Mote Bhoot Toh Dekh Nahi Lenge Isliye Hota Hai Kyonki Asal Mein Bhi Jo Bhootni Se Log Bolte Hain Jiske Liye Log Jadu Tona Karte Hain Kya Kya Karte Hain Sabhi Isi Prakar Ki Shaktiyan Hoti Hai Roj Hoti Hai Jo Bundel Hokar Aage Badhti Hain Aur In Chijon Ko Agar Aap Samajh Jaye Ki Wah Alag Nahi Hoti Hai Inke Prabhav Aur Intention Alag Ho Sakte Hain Inke Output Alag Ho Sakte Hain Lekin Hote Sab Bundel Of Energy Hain Jinako Dekhkar Jinako Hum Manage Kar Sakte Hain Toh Main Yahi Kahunga Ki Bhoot Hote Hain Hamare Aaspass Bhi Hote Hain Kai Baar Ek Anjane Mein Humein Create Kar Dete Hain Aur Kai Baari Bahut Saree Choti Choti Mera Kabhi Kisi Dost Se Jhagda Ho Gaya Kisi Ka Divorce Ho Gaya Aise Kai Saare Events Hote Hain Jisme Bhoot Pathak Rupaye Bante Hain Kisi Ke Upar Bahut Zyada Gussa Ho Kya Rishta Kharaab Ho Gaya Toh Us Wah Film Jo Mere Andar Paida Hua Tha Jise Kaand Mein Rasta Kharaab Hua Wah Feeling Apne Aap Mein Ek Bhoot Ban Jayega Aur Wah Bhoot Mein Apne Andar Rakh Lunga Aur Bahut Saara Chance Yeh Hai Ki Wah Kahin Chale Kisi Aur Ke Paas Pahunch Jaye Aur Kisi Aur Kaise Ho Tumhare Paas Pahunchate Hain Hamesha Tatpar Janana Chahiye Ki Bhoot Aaya Hai Yeh Main Nahi Hai Yeh Mera Gun Nahi Hai Suna Hai Dhanyavad
Likes  108  Dislikes      
WhatsApp_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

Similar Questions

क्या इस दुनिया में भुत प्रेत होता है या मन गढ़न कहानिया है या फिर किसी का आमना सामना हुआ है इनसे? ...

आज की दुनिया में भूत प्रेत होता है या नहीं होता दी की सब की सब मन में होता है लेकिन सब लोग क्यों मारना मारने के ऊपर है मैं तो कभी सामने नहीं हुआ मैंने तो कभी देखा नहीं सभी चीजों के बारे में मुझे बिल्कजवाब पढ़िये
ques_icon

जो ये भूत-प्रेत का मामला महज हिन्दुस्तान में है कि दूसरे देश में भी है। जिसके वजह से कोई भी व्यक्ति अपने मृत्यु को प्राप्ति कर लेता है। आखिर वजह क्या है? ...

भूत प्रेत का जो मामला है यह केवल हिंदुस्तान में है या और विदेशों में है देखा जाए तो भूत प्रेत या दोस्त या इस में विश्वास रखने का जो मामला है यह हिंदुस्तान के अलावा हर एक देश में है क्योंकि बहुत सारी ऐजवाब पढ़िये
ques_icon

More Answers


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां भूत होते हैं इसका उदाहरण गीता में भी मिलता है यहां पर भगवान अर्जुन को समझा दिए कहते हैं कि जो भूतों को पूछते हैं भूत गति को पाती है पितरों को पूजते हैं पत्रकारिता को पाते हैं जिन देवताओं को पूजते हैं बुद्धि पति को प्राप्त होते हैं मुझे मुझे पूछते हैं कि मुझे पाते हैं पता तो इसमें भगवान ने खुद कहा है कि भूतों को पूछने गति को प्राप्त होते हैं तब भगवान बोल रहे हैं भूतों का जिक्र है तो भूत होते हैं
Romanized Version
हां भूत होते हैं इसका उदाहरण गीता में भी मिलता है यहां पर भगवान अर्जुन को समझा दिए कहते हैं कि जो भूतों को पूछते हैं भूत गति को पाती है पितरों को पूजते हैं पत्रकारिता को पाते हैं जिन देवताओं को पूजते हैं बुद्धि पति को प्राप्त होते हैं मुझे मुझे पूछते हैं कि मुझे पाते हैं पता तो इसमें भगवान ने खुद कहा है कि भूतों को पूछने गति को प्राप्त होते हैं तब भगवान बोल रहे हैं भूतों का जिक्र है तो भूत होते हैंHaan Bhoot Hote Hain Iska Udaharan Geeta Mein Bhi Milta Hai Yahan Par Bhagwan Arjun Ko Samjha Diye Kehte Hain Ki Jo Bhooton Ko Poochhte Hain Bhoot Gati Ko Pati Hai Pitaron Ko Pujte Hain Patrakarita Ko Paate Hain Jin Devatao Ko Pujte Hain Buddhi Pati Ko Prapt Hote Hain Mujhe Mujhe Poochhte Hain Ki Mujhe Paate Hain Pata Toh Ismein Bhagwan Ne Khud Kaha Hai Ki Bhooton Ko Poochne Gati Ko Prapt Hote Hain Tab Bhagwan Bol Rahe Hain Bhooton Ka Jikarr Hai Toh Bhoot Hote Hain
Likes  32  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भूत एक कल्पना है कुछ नहीं होते हुए भी आपको यह महसूस होना कि कुछ है यही भूत है
Romanized Version
भूत एक कल्पना है कुछ नहीं होते हुए भी आपको यह महसूस होना कि कुछ है यही भूत हैBhoot Ek Kalpana Hai Kuch Nahi Hote Hue Bhi Aapko Yeh Mahsus Hona Ki Kuch Hai Yahi Bhoot Hai
Likes  19  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए भूत होते हैं नहीं तो कुछ पीछे भूत होने का असली में कोई प्रूफ नहीं है कि हम भूत होते ही है तू दिखे जिन चीजों का कुछ नहीं होता है उनको लोग कम ही मानते हैं और दो यह बहुत कुछ लोग हैं जो भूत से बहुत डरते हैं मैं बहुत ज्यादा मानते हैं कि यह नेगेटिव और दोस्त होते हैं जो नहीं तो आत्माएं होती है तो उनका अकाउंट करती हैं तो कुछ लोग इन चीजों फोन मानते हैं मेरे से हमें बस कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए तो सब कुछ प्रूफ नहीं है इसलिए मैं यह मुझे भूत नहीं होते क्योंकि मैं आज तक
Romanized Version
देखिए भूत होते हैं नहीं तो कुछ पीछे भूत होने का असली में कोई प्रूफ नहीं है कि हम भूत होते ही है तू दिखे जिन चीजों का कुछ नहीं होता है उनको लोग कम ही मानते हैं और दो यह बहुत कुछ लोग हैं जो भूत से बहुत डरते हैं मैं बहुत ज्यादा मानते हैं कि यह नेगेटिव और दोस्त होते हैं जो नहीं तो आत्माएं होती है तो उनका अकाउंट करती हैं तो कुछ लोग इन चीजों फोन मानते हैं मेरे से हमें बस कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए तो सब कुछ प्रूफ नहीं है इसलिए मैं यह मुझे भूत नहीं होते क्योंकि मैं आज तकDekhie Bhoot Hote Hain Nahi To Kuch Piche Bhoot Hone Ka Asli Mein Koi Proof Nahi Hai Ki Hum Bhoot Hote Hi Hai Tu Dikhe Jin Chijon Ka Kuch Nahi Hota Hai Unko Log Kam Hi Manate Hain Aur Do Yeh Bahut Kuch Log Hain Jo Bhoot Se Bahut Darte Hain Main Bahut Jyada Manate Hain Ki Yeh Negative Aur Dost Hote Hain Jo Nahi To Aatmaen Hoti Hai To Unka Account Karti Hain To Kuch Log In Chijon Phone Manate Hain Mere Se Hume Bus Kuch Aisa Intajam Ho Jaye To Sab Kuch Proof Nahi Hai Isliye Main Yeh Mujhe Bhoot Nahi Hote Kyonki Main Aaj Tak
Likes  5  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन जहां तक आपने भूतों की बात करी तो मैं आपको बताना चाहता हूं कि ऐसे भूत तो होते नहीं है रियल लाइफ में बसा लोगों का की थिंकिंग पर डिपेंड करता है बहुत लोग ऐसा जो सोचते हैं कि भूत वगैरह एग्जिट करते दुनिया में उनके साथ में भूत होते हैं लेकिन मेरे हिसाब से भूत भूत होता नहीं बाकी आदमी के लिए रिमाइंड की थिंकिंग पर होता है और ऐसे आदमी के विचारों पर होता है अगर आपके विचार ऐसे अगर आपको लगता है कि भूत उतर आप इन सब में विश्वास रखते हैं तो आपको हमेशा भूख लगेगी अगर आपका कोई विश्वास नहीं है तो आप कभी भी आपको बहुत दिखेंगे नहीं नहीं होते हैं ऐसा किसी ने रियल लाइफ में कभी देखा नहीं है भूतों का हां बहुत लोगों ने देखा भी है क्योंकि उनको अफीम की थिंकिंग हो जाती है बल्कि आपकी थिंकिंग पर डिपेंड करता है
Romanized Version
लेकिन जहां तक आपने भूतों की बात करी तो मैं आपको बताना चाहता हूं कि ऐसे भूत तो होते नहीं है रियल लाइफ में बसा लोगों का की थिंकिंग पर डिपेंड करता है बहुत लोग ऐसा जो सोचते हैं कि भूत वगैरह एग्जिट करते दुनिया में उनके साथ में भूत होते हैं लेकिन मेरे हिसाब से भूत भूत होता नहीं बाकी आदमी के लिए रिमाइंड की थिंकिंग पर होता है और ऐसे आदमी के विचारों पर होता है अगर आपके विचार ऐसे अगर आपको लगता है कि भूत उतर आप इन सब में विश्वास रखते हैं तो आपको हमेशा भूख लगेगी अगर आपका कोई विश्वास नहीं है तो आप कभी भी आपको बहुत दिखेंगे नहीं नहीं होते हैं ऐसा किसी ने रियल लाइफ में कभी देखा नहीं है भूतों का हां बहुत लोगों ने देखा भी है क्योंकि उनको अफीम की थिंकिंग हो जाती है बल्कि आपकी थिंकिंग पर डिपेंड करता हैLekin Jahan Tak Aapne Bhooton Ki Baat Kari To Main Aapko Batana Chahta Hoon Ki Aise Bhoot To Hote Nahi Hai Real Life Mein Basa Logon Ka Ki Thinking Par Depend Karta Hai Bahut Log Aisa Jo Sochte Hain Ki Bhoot Vagairah Exit Karte Duniya Mein Unke Saath Mein Bhoot Hote Hain Lekin Mere Hisab Se Bhoot Bhoot Hota Nahi Baki Aadmi Ke Liye Ki Thinking Par Hota Hai Aur Aise Aadmi Ke Vicharon Par Hota Hai Agar Aapke Vichar Aise Agar Aapko Lagta Hai Ki Bhoot Utar Aap In Sab Mein Vishwas Rakhate Hain To Aapko Hamesha Bhukh Lagegi Agar Aapka Koi Vishwas Nahi Hai To Aap Kabhi Bhi Aapko Bahut Dikhenge Nahi Nahi Hote Hain Aisa Kisi Ne Real Life Mein Kabhi Dekha Nahi Hai Bhooton Ka Haan Bahut Logon Ne Dekha Bhi Hai Kyonki Unko Afim Ki Thinking Ho Jati Hai Balki Aapki Thinking Par Depend Karta Hai
Likes  1  Dislikes      
WhatsApp_icon
ठीक है भूत होते हैं या नहीं होते तक कभी कोई भी साइंटिफिक प्रूफ नहीं मिला है साइंस के कहते हैं कि भूत नहीं होते हैं तेरे सोती हैं मतलब एक इंसान की आत्मा होती है वहीं पर कुछ लोगों का मानना है कि भूत होते हैं और कुछ लोगों को तो यह भी कहना है जिससे 77 नेट पर पढ़ेंगे तो आपको पता चलेगा कुछ लोग यह कहते हैं कि उन्हें भूत दिखते हैं तो हमें नहीं पता कि कौन सच बोल रहा है और कौन झूठ बोल रहा है साइंस की तरफ से देखा है तो मुझे भूत वाला लॉजिक समझ नहीं आता है कुछ प्रेस होती है मतलब आत्मा होती है और आत्मा बुरी हो सकती है अच्छी हो सके तो आत्मा बुरी हो और आपको डरा है उसको हम एक तरीके से भूत कह सकते हैंTheek Hai Bhoot Hote Hain Ya Nahi Hote Tak Kabhi Koi Bhi Scientific Proof Nahi Mila Hai Science Ke Kehte Hain Ki Bhoot Nahi Hote Hain Tere Soti Hain Matlab Ek Insaan Ki Aatma Hoti Hai Wahin Par Kuch Logon Ka Manana Hai Ki Bhoot Hote Hain Aur Kuch Logon Ko To Yeh Bhi Kehna Hai Jisse 77 Net Par Padhenge To Aapko Pata Chalega Kuch Log Yeh Kehte Hain Ki Unhen Bhoot Dikhte Hain To Hume Nahi Pata Ki Kaun Sach Bol Raha Hai Aur Kaun Jhuth Bol Raha Hai Science Ki Taraf Se Dekha Hai To Mujhe Bhoot Wala Logic Samajh Nahi Aata Hai Kuch Press Hoti Hai Matlab Aatma Hoti Hai Aur Aatma Buri Ho Sakti Hai Acchi Ho Sake To Aatma Buri Ho Aur Aapko Daraa Hai Usko Hum Ek Tarike Se Bhoot Keh Sakte Hain
Likes  5  Dislikes      
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भूत एक करोड़ दिलीप है स्पेशलिटी है जो हम लोग मानते हैं और मानते हैं कि बस आत्मा होती है तो अगर हम मानते हैं तो भूत होता है नहीं मानते तो बहुत नहीं होता लेकिन मुझे जहां तक लगता है मुझे भी भूत में थोड़ा थोड़ा भरोसा तो होता है लाइक विश्वास होता है लेकिन क्या है कि भूत का कोई प्रूफ नहीं है तो जस्ट ऐसे हो अब होता है क्यों क्योंकि साइंस जो है वह हर चीज को बोलते हैं कि यह फिजिक्स और केमिस्ट्री है कि ऐसे होता है इसमें कोई राज छुपा है तो उसको वैज्ञानिक कारण बताते हैं तो अगर मानते हैं तो भूत है नहीं मानती है तो वह नहीं है
Romanized Version
भूत एक करोड़ दिलीप है स्पेशलिटी है जो हम लोग मानते हैं और मानते हैं कि बस आत्मा होती है तो अगर हम मानते हैं तो भूत होता है नहीं मानते तो बहुत नहीं होता लेकिन मुझे जहां तक लगता है मुझे भी भूत में थोड़ा थोड़ा भरोसा तो होता है लाइक विश्वास होता है लेकिन क्या है कि भूत का कोई प्रूफ नहीं है तो जस्ट ऐसे हो अब होता है क्यों क्योंकि साइंस जो है वह हर चीज को बोलते हैं कि यह फिजिक्स और केमिस्ट्री है कि ऐसे होता है इसमें कोई राज छुपा है तो उसको वैज्ञानिक कारण बताते हैं तो अगर मानते हैं तो भूत है नहीं मानती है तो वह नहीं हैBhoot Ek Crore Dilip Hai Hai Jo Hum Log Manate Hain Aur Manate Hain Ki Bus Aatma Hoti Hai To Agar Hum Manate Hain To Bhoot Hota Hai Nahi Manate To Bahut Nahi Hota Lekin Mujhe Jahan Tak Lagta Hai Mujhe Bhi Bhoot Mein Thoda Thoda Bharosa To Hota Hai Like Vishwas Hota Hai Lekin Kya Hai Ki Bhoot Ka Koi Proof Nahi Hai To Just Aise Ho Ab Hota Hai Kyon Kyonki Science Jo Hai Wah Har Cheez Ko Bolte Hain Ki Yeh Physics Aur Chemistry Hai Ki Aise Hota Hai Isme Koi Raj Chhupa Hai To Usko Vaigyanik Kaaran Batatey Hain To Agar Manate Hain To Bhoot Hai Nahi Maanati Hai To Wah Nahi Hai
Likes  4  Dislikes      
WhatsApp_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches:Kya Bhoot Hote Hain,What Are The Ghosts?,Kya Bhoot Hote Hai, Kya Bhoot Hote Hain, Bhoot Hote Hai Ya Nahi,


vokalandroid