अचार संहिता क्या है? ...

Likes  0  Dislikes

1 Answers


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
आचार संहिता का अर्थ है चुनाव आयोग के विनिर्देश और नियम जिनका पालन चुनाव खत्म होने तक सभी पार्टी के उम्मीदवारों को करना होता है अगर कोई भी उम्मीदवार या पार्टी आचार संहिता के नियमों की पालना नहीं करती है तो आयोग उसके खिलाफ कार्यवाही कर सकता है उसे चुनाव लड़ने से रोका जा सकता है उम्मीदवार के खिलाफ FIR भी दर्ज की जा सकती है और दोषी पाए जाने पर उसे जेल भी हो सकती है राज्यों में चुनाव की तारीखों का ऐलान होने के साथ ही आचार संहिता के नियम भी लागू हो जाते हैं प्रदेश सरकार व प्रशासन पर कई तरह के अंकुश लग जाते हैं सरकारी कर्मचारी चुनाव प्रक्रिया पूरी होने तक निर्वाचन आयोग के कर्मचारी बन जाते हैं तथा वह आयोग के अंतर्गत रहकर उसके दिशा निर्देशों के अनुसार ही काम करते हैं मुख्यमंत्री या मंत्री इसके बाद कोई भी घोषणा नहीं कर सकते हैं कोई शिलान्यास-लोकार्पण का भूमिपूजन नहीं कर सकते हैं सरकारी खर्चे से ऐसे आयोजन नहीं हो सकते हैं जिससे किसी भी दल विशेष दल को फायदा होता है इस तरह आचार संहिता के नियम चुनाव के समय लागू हो जाते हैं तथा उनका पालन चुनाव खत्म होने तक करना सभी पार्टी के सभी उम्मीदवारों के लिए अनिवार्य होता हैAachar Sanhita Ka Arth Hai Chunav Aayog Ke Vinirdesh Aur Niyam Jinka Palan Chunav Khatam Hone Tak Sabhi Party Ke Ummidwaron Ko Karna Hota Hai Agar Koi Bhi Ummidvar Ya Party Aachar Sanhita Ke Niyamon Ki Paalnaa Nahi Karti Hai To Aayog Uske Khilaf Karyavahi Kar Sakta Hai Use Chunav Ladane Se Roka Ja Sakta Hai Ummidvar Ke Khilaf FIR Bhi Darj Ki Ja Sakti Hai Aur Doshi Paye Jaane Par Use Jail Bhi Ho Sakti Hai Rajyo Mein Chunav Ki Tarikhon Ka Elan Hone Ke Saath Hi Aachar Sanhita Ke Niyam Bhi Laagu Ho Jaate Hain Pradesh Sarkar V Prashasan Par Kai Tarah Ke Ankush Lag Jaate Hain Sarkari Karmchari Chunav Prakriya Puri Hone Tak Nirvachan Aayog Ke Karmchari Ban Jaate Hain Tatha Wah Aayog Ke Antargat Rahkar Uske Disha Nirdeshon Ke Anusar Hi Kaam Karte Hain Mukhyamantri Ya Mantri Iske Baad Koi Bhi Ghoshana Nahi Kar Sakte Hain Koi Shilanyas Lokarpan Ka Bhumipujan Nahi Kar Sakte Hain Sarkari Kharche Se Aise Aayojan Nahi Ho Sakte Hain Jisse Kisi Bhi Dal Vishesh Dal Ko Fayda Hota Hai Is Tarah Aachar Sanhita Ke Niyam Chunav Ke Samay Laagu Ho Jaate Hain Tatha Unka Palan Chunav Khatam Hone Tak Karna Sabhi Party Ke Sabhi Ummidwaron Ke Liye Anivarya Hota Hai
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

अपना सवाल पूछिए


Englist → हिंदी

Additional options appears here!


0/180
mic

अपना सवाल बोलकर पूछें


प्ले क्लिक करके जवाब सुनिये। जवाब पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करिये...जवाब पढ़िये
अच्छा साहित्य एक व्यक्ति पार्टी या संगठन के सामाजिक मानदंडों और धार्मिक नियमों और जिम्मेदारियों या उचित कथाओं के नियमों का एक सेट है संबोधित अवधारणाओं में नैतिक संविधान नैतिक कोर्ट और धार्मिक कानून कानून भी शामिल हैAccha Sahitya Ek Vyakti Party Ya Sangathan Ke Samajik Maandandon Aur Dharmik Niyamon Aur Jimmedariyon Ya Uchit Kathao Ke Niyamon Ka Ek Set Hai Sambodhit Avadharnaon Mein Naitik Samvidhan Naitik Court Aur Dharmik Kanoon Kanoon Bhi Shamil Hai
Likes  1  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Want to invite experts?




Similar Questions

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches: Achaar Sanhita Kya Hai, Achar Sahita Kya Hai, Sarkari Disha





मन में है सवाल?