ऐसा कहा जाता है की लोग ग़लतियों से ही सिखते है। तो वह क्या ग़लतियाँ है जिनसे मैं कुछ सीख पाउँगा?

Likes  2  Dislikes

9 Answers


जवाब पढ़िये
गलतियों से लोग सीखते हैं इसका यह तात्पर्य नहीं की गलतियों को अपना गुरु मांग लिया जाए या गलतियों को अपना मार्गदर्शक मान लिया जाए यह तो सतत कर्म करने के अपने अनुभव के आधार पर जो परिणाम आते हैं उस परिणाम का मूल्यांकन होता है जब उसकी समीक्षा होती है स्वता के द्वारा अपने आप के द्वारा तो खुद अपने से ही वह बिंदु भर कर के आ जाते हैं कि कहां हमने चौकी कहां गलतियां की और उस आधार पर भविष्य में जब हम कोई कार्य करें तो कम से कम उन गलतियों को उन कमियों को ना दोहराएं परंतु दुर्भाग्य से यदि यदि आपने गलतियों को अपना गुरु मान लिया कि नहीं हम गलती करेंगे और फिर सीखेंगे गलती करेंगे और फिर सीखेंगे तो गलतियां तो आपको कहीं भी पहुंचा सकती है हो सकता है आपकी गलतियों के प्रयोग के कारण आपको जेल की हवा खानी पड़ जाए गलतियों के कारण आपको बड़ी से बड़ी है संकट में से गुजर ना पड़ जाए तो यह सोच बिल्कुल सकारात्मक है अपने कर्म को करते रहिए अपने काम को करते रहेंगे जिस लक्ष्य के लिए आप अपने आप को लगा कर के रखे हुए हैं उसमें अपने अनुभवों की समीक्षा करें एवं समीक्षा के आधार पर भविष्य की रणनीति योजना बनाई है उसमें आपको निश्चित रूप से सफलता मिलेगी या अनुभव ही आपके गुरु हैं गलतियां भी गुरु ने गलतियां तो बल्कि शत्रु है अनुभव आपके गुरु है वही आप के मार्गदर्शक हैं वह आपकी निजी निप्पू जी यह ऐसा डिपॉजिट है जो कभी चाय नहीं होता हमेशा इसमें वृद्धि होते हैं उसे ही अपना मार्गदर्शक मान करके अपने जीवन के लक्ष्य को प्राप्त किया जा सकता है
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon
500000+ दिलचस्प सवाल जवाब सुनिये 😊

अपना सवाल पूछिए

0/180
mic

अपना सवाल बोलकर पूछें


जवाब पढ़िये
डीजे समस्त समझदार तो होता ही है कुछ न कुछ छेद है कि अगर हम अपनी-अपनी ज्यादा चलाते हैं ना तो हमसे कुछ ऐसा गलत हो जाता है कि जिससे हमें सीख मिलते हैं आप अगर गलती से भी गलती मत कीजिए आप जैसे कुछ डिसीजन ले रहा कोई फैसला लेते हैं तो आपको राय भक्त लेनी चाहिए दूसरों से ठीक देखे कभी कभी ऐसा भी होता है कि हम दूसरे की राय से काम करते हैं तो उनकी राय से अगर वह काम गलत पड़ जाता है हम पर तो हमें क्या होता सीख मिलती है फिर हमें अंदर से लगता है कि नहीं अगर मैं उसको अपनी अगर मैं इस काम को अपनी सोच सोच से करता तो बेहतर होता कि कुछ लोग ऐसे होते हैं जो दूसरों की राय से काम करते हैं और वह अपने ही पैर पर कुल्हाड़ी मारते हैं हमसे भी कुछ ऐसी गलती हो जाती है जिससे हमें सीख मिलता है कि नहीं ऐसा नहीं ऐसा ऐसा होता तो ठीक होता तो आपको ही पता होगा कि वह हमें भी हम सबको अपनी अपनी गलती का एहसास होता है और उस गलती से ही हमें सीख मिलती है आप से भी कुछ गलती हुई होगी तो आप उसको सुधार ही हैं आप अपनी गलतियों सुधार सकते हैं गलती को सुधार के आपको पता चल जाएगा कि मैं क्या सीखा धन्यवाद
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

जवाब पढ़िये
नमस्कार दोस्तों मैं नौरंग शर्मा आज बात करने जा रहा हूं कि लोग गलतियों से ही सीखते लोग क्या गलती हैं जिनसे आप कुछ सीख पाए देखें दोस्तों हम दिन भर के दौरान कुछ ना कुछ करते ही रहते हैं कुछ ना कुछ काम हमें करने पड़ते हैं तो कुछ लोग कितना अच्छे तरीके से किसी काम को करते हैं उसका रिजल्ट बहुत ही अच्छा होता है अप्रिशिएट करते हैं लोग आपको सराहना करते हैं आपकी आपकी तारीफ करते हैं जबकि कुछ काम ऐसे होते हैं जिनमें आपको आलोचना का शिकार बनना पड़ता है जिसके लिए आपको बहुत किया घर वालों की डांट सुननी पड़ती है तो देखिए आपको एनालिसिस तो करना होगा अपने दिन भर के उन कामों का जो आप अपनी दफ्तर में या घर में करते हैं तो फिर देखिए जो कुछ करेंगे उनसे गलतियां भी होंगी अरे भाई आखिर हम लोग इंसान है तो गलतियां कर कर के ही सीखेंगे ना तो आप दिनभर की जितनी भी काम शाम को कुछ वक्त के लिए जब आप शांति से बैठकर अपने उन कामों का निरीक्षण करेंगे तब आपको महसूस होगा कि आप इस काम को और बेहतर तरीके से कर सकते थे या अपनी क्या कमी रख दी क्या कमी रह गई आपकी किसी काम में तो आप अपनी सारी गलतियों को पकड़ पाएंगे तो जो स्वाध्याय आप लोग सुनते होंगे अपने ऋषि-मुनियों से अपनी महात्मा उसे अपने गुरुजनों से स्वाध्याय का यही मतलब होता था कि आप अपना जिंदगी अपने कामों का दिन करें अपने दैनिक क्रियाकलापों को पढ़े जैसे पढ़ाई में पढ़ते हैं तू पढ़ती पढ़ती आप निपुण हो जाएंगे अब जो लोग गलतियां करने में निपुण होंगे वह शायद अपने उन गलतियों से सीख नहीं लेते होंगे जो लोग सुधार लेते हैं वह दोबारा व्यक्ति गलतियां करने से बच जाती हैं धन्यवाद
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Want to invite experts?




Similar Questions


More Answers


जवाब पढ़िये
ऐसा कहा जाता है लोग गलतियों से ही सीखते हैं जरूरी नहीं है कुछ लोग अपनी गलतियों से सीखते भी नहीं है क्योंकि उन्हें पता ही नहीं रहता है क्यों गलतियां कर रहे हैं दूसरों पर अपना गुस्सा उतारते हैं दूसरों पर अपना रूट बीएबीएस रिस्पेक्ट करते हैं और उन्हें लगता है कि वह बिल्कुल सही है गलतियों से लोग तभी सीख पाते हैं जब उनके उनको इस चीज का एहसास होता है कि हम गलतियां कर रहे और उसको रिपीट ना करें तभी यह गलती सही मायने में गलतियों से सही मायने में आप सीख सकते हैं हर इंसान की सोचने का तरीका और उसके हिसाब से एक्शन उसके हिसाब से इमोशन बहुत अलग अलग होते हैं तो हर किसी के लिए गलती का डेफिनेशन भी अलग अलग होता है मोटी मोटी चीजें हैं जहां पर जो है अपने को अलग रखें और अपने वॉइस मेल आए तो खुशियों और हम अपनी गलतियों से बहुत कुछ सीख सकते हैं हिंदुओं की नगरी से भी हम और बहुत ज्यादा सीखते हैं कौन से गेम इस वियर ओपन मोटी मोटी गलतियां होती है जैसे फोर एग्जांपल हम अपने अंदर दूसरों को ठोकते हैं हम किसी और को ब्लेम करते हैं अपने नाका में अभी के लिए हम कभी नहीं सोचते हैं जीवन में कुछ अच्छा करते हैं तो दूसरों को क्रेडिट नहीं देते हैं पर जब कुछ बुरा होता है या तो किस्मत को कोसते सिस्टम को कोसते हैं या अगले इंसान को कोसते एटीट्यूड आफ ग्रिटीट्यूड हमें अपने जीवन में बिल्कुल इन क्रिकेट कर लेना चाहिए 3 से क्या हो जाता है हम
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

जवाब पढ़िये
जरूरी नहीं है कि आप सिर्फ अपनी ही गलतियों से कुछ सीख सकते हैं आप अपने आजू-बाजू के लोगों की गलतियों से भी सीख सकते हैं आप किताब में पढ़ कर जो लेखक है उनकी गलतियों से भी सीख सकते हैं आप किसी सिनेमा देख रहे हैं कोई मूवी देखने हैं उस फिल्म में हीरो की गलती से भी सीख सकते हैं आप किसी से भी किसी और की गलती उसे भी आप सीख ले सकते हैं और वह अपनी लाइफ में आप दौरान नहीं सकते तो सीख जो है वह गलतियों से आती है ऐसा नहीं है जरूरी नहीं कि गलती करने से ही सीखा थी लेकिन कभी कभी ऐसा हो जाता है कि अगर आप अगर आपकी लाइफ में कोई ऐसा सिचुएशन आता है जहां पर आप बात को नहीं समझ रहे हो तो कब एक गलती होती है जिसके वजह से वही बात आपके सामने काफी कठोर रूप से आती और आपको तब समझ में आता है वह बात जो पहले नहीं समझ आया होता है ऐसे कई चीजें हैं रिश्ते हैं फिर स्वास्थ संबंधित है फिर काम के संबंधित में है पढ़ाई के संबंध स्प्रिचुअल भगवान के संबंधित में है पॉलिटिक्स है ऐसे कई सारे फिर से जहां पर आप किसी और की गलतियों से सीख के अपनी लाइफ को अच्छा बना सकते हैं तो आपको हमें चाहिए कि आप चौकन्ना रही किताबे बड़े अच्छे फिल्म देखे अच्छे दोस्त बनाएं और अच्छे मोटिवेशनल टॉक देखें और वहां पर जो लोग होते हैं वह अपनी गलतियों के बारे में बात करते हैं कि वह कैसे ऊपर आए अपनी गलतियों को पीछे छोड़ कर यह बातों को आप को सीखना चाहिए और इन्हें अपने लाइफ में लकीर बांध के रखना चाहिए कि आप ऐसी गलती नहीं करेंगे और अपनी गलतियों के बारे में अगर आप शेयर करना चाहें तो दूसरों से शेयर कर सकते हैं अगर कंप्यूटर पर नहीं है तो मत कीजिएगा यह आप पर डिपेंड करता है कि आप कितने ओपन हैं और कितना शेयर करना चाहते हैं तो गलतियां से ही सीखना है कुछ लोग को कई लोग गलतियों के बाद सकते हैं और कई लोग तो हैं वह दूसरों की गलतियों से सीख के समझ जाते हैं और खुद गलती नहीं करते यह डिपेंड करता है कि आपकी पर्सनालिटी क्या है आपका मेंटल मेकअप क्या है
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

जवाब पढ़िये
बिल्कुल सही कहा है आपने की गलतियों से हमें सीख मिलती है और अब इसमें यह सवाल ही मुझे बहुत अजीब लग रहा है कि वह कौन सी गलतियां है ऐसा आपको ढूंढने की कोई जरूरत नहीं आप अपनी किसी भी गलती की तरफ देखे उसी गलती में से आपको कोई लेसन मिल जाएगा और आप इससे आगे सीखते जाओगे जब भी कोई काम आप गलत करते हो आप करते हो या आपके आसपास क्या दुनिया में किसी ने भी की हो वह गलती गलती तो हुई उससे क्या हुआ रिजल्ट उसका क्या गलत हुआ अब आपको यह देखना है कि उसमें क्या ऐसा किया जाता जो गलती ना होती है और ऐसा रिजल्ट ना आता तो जब इस तरीके से आपका दिमाग सोचता है तो आपको यह जवाब खुद-ब-खुद मिल जाता है कि ऐसा नहीं करना चाहिए था जिसकी वजह से रिजल्ट नहीं मिलता तो जब आप ऐसा सोचोगे तो आपको एक लेसन मिल गया कि आपको क्या करना चाहिए जिससे कि आपको अपना डिजाइन रिजल्ट मिल सके
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

जवाब पढ़िये
जब तक हम अपने को नहीं समझेंगे तब तक हम कुछ नहीं समझ पाएंगे
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

जवाब पढ़िये
यह सत्य है कि लोग गलतियों से सीखते हैं लेकिन जानबूझकर गलती करना कोई अच्छी बात नहीं है आप अगर आपके दिमाग में या गया कि मैं गलती नहीं करूंगा तो मैं सो नहीं पाऊंगा तो गलत बात है आप अपने जानबूझकर गलती करेंगे फिर आप चाहेंगे कि मैं गलती करूंगा तो मुझे सीखने को मिलेगा तो यह गलत बात है आप कार्य करते रहिए ईमानदारी से आप कार्य करते रहिए मेहनत करते रहिए आप अगर स्टडी करते हो तो करते रहो स्टडी हो सकता है नंबर कमाया लेकिन आपका नेक्स्ट एग्जाम में नंबर अधिक आएगा आप काम कर रहे हो होते हो तो कोई जरूरी नहीं है कि आपको सफलता मिलती है आप करते रहते हो करते रहते हो आप फिर भी और आपको पर मिलता है फिर धीरे धीरे धीरे एक दिन ऐसा टाइम आता है कि आपको सी काम में सफलता मिलता है तो क्योंकि आप गलतियों से सीखते हो मैं आप सभी लोगों से निवेदन करना चाहता हूं गलतियों से ही इंसान सीखता है लेकिन जानबूझकर गलती नहीं करनी चाहिए आप अपना कार्य करते रहिए आपको सफलता मिलेगी अगर गलती होगी तो आप को कुछ सीखने को मिलेगा जब आपको सीखने को मिलेगा तो आपको उस काम में उपलब्धि मिलेगी सफलता मिलेगी धन्यवाद
Likes  0  Dislikes
Share this answer
WhatsApp_icon
share_icon

Vokal is India's Largest Knowledge Sharing Platform. Send Your Questions to Experts.

Related Searches:, It Is Said That People Learn From Mistakes Only. So What Are The Mistakes From Which I Can Learn Something?